नई दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दिल्ली मेट्रो (Delhi metro) का परिचालन मार्च महीने के अंत से बंद है. अगस्त में मेट्रो ट्रेनों का संचालन ठप हुए करीब 4 महीने से अधिक हो चुके हैं. ऐसे में कोरोना वायरस के चलते दिल्ली मेट्रो की वित्तीय स्थिति भी गड़बड़ा गई है. इसके चलते दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने मंगलवार को बड़ फैसला लेते हुए कर्मचारियों के भत्तों में भारी कटौती करने का फैसला किया है. Also Read - कृषि विधेयकों पर चर्चा के दंरौन हंगामा, राजनाथ सिंह बोले- आज राज्यसभा में जो हुआ वो दुखद व शर्मनाक था

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने नोटिस जारी कर कहा है कि कई महीने से दिल्ली मेट्रो का संचालन ठप रहने की वजह से कर्मचारियों की सुविधाओं और भत्तों में 50 प्रतिशत की कटौती का फैसला किया गया है. उसने कहा कि मेट्रो सेवाओं के संचालन के बंद होने के चलते उसकी वित्तीय स्थिति पर प्रतिकूल असर पड़ा है. Also Read - अपने बैग में खतरनाक हथियार रखे थी लड़की, मेट्रो स्टेशन पर पकड़ी गई, फिर...

मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने कहा, “मेट्रो सेवाओं के बंद होने के चलते प्रतिकूल वित्तीय स्थिति के मद्देनजर, अगस्त 2020 से सुविधाओं-भत्तों (perks & allowances) को 50% तक कम किया गया है. यह अगस्त 2020 से लागू होगा. बेसिक पे के 15.75 प्रतिशत पर भत्ता मिलेगा. यानी अगस्त की सैलरी में, भत्ते मूल वेतन (बेसिक सैलरी) के 15.75% की दर से देय होंगे.” Also Read - ट्रंप ने दिए टिकटॉक और वी चैट ऐप को बैन करने के आदेश, अमेरिका में नहीं किये जा सकेंगे डाउनलोड

इसके अलावा मेट्रो ने कई जरूरी कामों के लिए एडवांस पेमेंट लेने की सुविधा पर भी रोक लगाई गई है.