Prashant Kishor challenged Amit Shah:: जनता दल यूनाइटेड (JDU) के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने गृहमंत्री अमित शाह ( Home Minister Amit Shah) पर निशाना साधा है. किशोर ने गृह मंत्री को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लागू करने को लेकर चुनौती दी है. इस दौरान प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर अमित शाह को चुनौती दी और CAA के खिलाफ आवाज उठाई है. बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब किशोर CAA और NRC के खिलाफ बोल रहे हैं. इससे पहले भी कई बार वो ऐसा कर चुके हैं. Also Read - Bihar Politics: JDU के बाद BJP ने दिया तगड़ा झटका, चिराग को छोड़ गए 200 से अधिक नेता-कार्यकर्ता

प्रशांत किशोर ने आज सुबह ट्वीट कर लिखा- नागरिकों के असंतोष से वंचित होना सरकार के ताकत का संकेत नहीं होता है. @amitshah जी अगर आप #CAA_NRC का विरोध करने वालों की परवाह नहीं करते हैं, तो आप आगे क्यों नहीं बढ़ते और अपने कार्यकाल में CAA और NRC को लागू क्यों नहीं करते. Also Read - COVID-19 Vaccine Drive: दूसरे चरण के पहले दिन उपराष्ट्रपति, PM मोदी, अमित शाह समेत इन नेताओं ने लगवाई वैक्सीन

बता दें कि प्रशांत किशोर का यह बयान अमित शाह की लखनऊ रैली के बाद आया है. इस रैली में अमित शाह ने कहा- CAA को हटाया नहीं जाएगा. हम किसी भी प्रदर्शन से नहीं डरते हैं. असल में हम प्रदर्शन के बीच ही पैदा हुए हैं. शाह ने कहा विपक्ष में रहने के दौरान भी हमने यही बात कही थी और सत्ता में आने के बाद भी अपनी बात पर कायम हैं. शाह ने कानून पर सार्वजनिक बहस का भी आह्वान भी किया.

बता दें कि CAA में तीन पड़ोसी देशों गैर-मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने की बात कही गई है. यह नागरिकता सिर्फ उन लोगों को दी जाएगी जो साल 2015 से पहले से ही भारत में रह रहे हैं. हालांकि इस कानून को केरल सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई हैं. यही नहीं कई राज्य जैसे पंजाब और बंगाल ने भी इस कानून को राज्य में लागू करने से साफ इनकार कर दिया है. इन राज्यों में बिल के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव भी जारी किया गया है.