नई दिल्ली: कोरोना वायरस संकट से निपटने में राष्ट्र के ‘‘सामूहिक संकल्प और एकजुटता’’ को प्रदर्शित करने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर ‘रविवार रात नौ बजे नौ मिनट तक’ करोड़ों देशवासियों ने अपने घरों की बत्ती बुझा दी और दीये, मोमबत्ती तथा मोबाइल फोन की फ्लैशलाइट जलाई. इस दौरान खुद पीएम मोदी ने भी दीपक जलाए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कुछ तस्वीरों को सोशल मीडिया पर शेयर भी किया है. पीएम ने तस्वीरों को शेयर करते हुए संस्कृत में एक संदेश भी लिखा है. पीएम ने लिखा- Also Read - क्या अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम की कोरोना से हुई मौत?, सोशल मीडिया में अटकलों का बाजार गर्म

शुभं करोति कल्याणमारोग्यं धनसंपदा .
शत्रुबुद्धिविनाशाय दीपज्योतिर्नमोऽस्तुते ॥ Also Read - राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 10128, अब तक मृतक संख्‍या 219

उल्लेखनीय है कि यह पहला मौका है जब मोदी ने ‘लॉकडाउन’ के दौरान इस वैश्विक महामारी के खिलाफ लोगों को एकजुट करने की कोशिश की. लॉकडाउन से ठीक पहले 22 मार्च को ‘‘जनता कर्फ्यू ’’के दौरान भी लोगों ने प्रधानमंत्री की अपील पर ताली, थाली, और घंटी आदि बजा कर कोरोना वायरस संकट का मुकाबला कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों का उत्साह बढ़ाया था. रविवार रात नौ बजते ही, ज्यादातर घरों में बत्तियां बुझा दी गई और लोगों ने बालकनी में खड़े होकर मोबाइल फोन की फ्लैशलाइट जलाई. जबकि, कइयों ने दीये और मोमबत्ती भी जलाये.

मोदी ने शुक्रवार को लोगों को से अनुरोध किया था कि वे कोरोना वायरस को पराजित करने के लिये सामूहिक संकल्प और एकजुटता प्रदर्शित करने के लिये रविवार रात नौ बजे नौ मिनट के लिये लाइट बुझा दें. इस वैश्विक महामारी से दुनिया भर में 65,600 लोगों की मौत हो चुकी है और 10 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं. मोदी ने कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिये 24 मार्च को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी और यह उसी रात मध्य रात्रि से प्रभावी हो गया था.