नई दिल्ली: लद्दाख दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लेह में 15 जून को गलवान घाटी (Galwan Valley Clash) में चीनी सेना से हुई झड़प में घायल हुए सैनिकों से मुलाकात की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, “मैं आपको प्रणाम करता हूं और आपको जन्म देने वाली माताओं को भी शत्-शत् नमन करता हूं जिन्होंने आपको पाला-पोसा और देश को दे दिया.” Also Read - आर्मी हॉस्पिटल में ब्रेन सर्जरी के बाद लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, जांच में पाए गए थे कोरोना पॉजिटिव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि 130 करोड़ देशवासी आपके प्रति गौरव का अनुभव करते हैं. उन्होंने कहा, “आपका ये साहस और शौर्य हमारी पूरी नई पीढ़ी को प्रेरणा दे रहे हैं. आपने जो रक्त बहाया है वो हमारी युवा पीढ़ी और देशवासियों को आने वाले लंबे अरसे तक प्रेरणा देता रहेगा.” Also Read - नीतीश कुमार ने PM मोदी से की नेपाल की शिकायत, कहा- बाढ़ रोकने में सहयोग नहीं कर रहा ये देश

बता दें कि पूर्वी लद्दाख में भारतीय एवं चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के कुछ ही दिनों बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अचानक लेह पहुंचे और वहां जवानों को संबोधित किया. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘‘विस्तारवाद’’ का युग समाप्त हो चुका है यह युग विकासवाद का है. विस्तारवाद की नीति ने विश्व शांति के लिए खतरा पैदा किया है और इसी अनुभव के आधार पर पूरे विश्व ने इस बार फिर विस्तारवाद के खिलाफ मन बना लिया है.” Also Read - मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद बोले पीएम मोदी- बाढ़ से निपटने के लिए केंद्रीय-राज्य एजेंसियों के बीच बेहतर समन्वय हो

घायल हुए सैनिकों से मुलाकात के दौरान पीएम ने कहा, “दुनिया कि किसी भी ताकत के सामने न कभी झुके हैं न कभी झुकेंगे और ये बात मैं बोल पा रहा हूं आप जैसे वीर पराक्रमी साथियों के कारण.” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गलवान घाटी में पीएलए के साथ झड़प में घायल हुए सैनिकों से कहा कि जो जांबाज सैनिक हमें छोड़ गये वे बगैर कारण नहीं गये, आपने मुंहतोड़ जवाब दिया.