नई दिल्ली: देश में फैले कोरोना वायरस के बीच तबलीगी जमाता के मामले ने खूब तूल पकड़ा. तबलीगी जमात के मरकज का संचालक मौलान साद है. हालांकि उस वक्त मौलान साद गायब हो गए थे लेकिन बाद में फिर खबर आई की पुलिस व वकीलों के संपर्क में मौलाना साद हैं. इसी बीच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने मौलान साद के बेटे से पूछताछ की. इस पूछताछ में क्राइम ब्रांच में उन लोगों के बारे में जानकारी मांगी जो मरकज का सारा कामकाज देखते हैं. Also Read - Delhi Violence: दिल्ली दंगा मामले में अबतक सैकड़ों लोगों की हुई गिरफ्तारी, 78 चार्जशीट दाखिल

गौरतलब है कि अबतक मौलाना साद की गिरफ्तारी नही हो पाई है. लेकिन इससे पहले पुलिस टीमें कई जगहों पर मौलाना की गिरफ्तारी के लिए दबिश डाल चुकी है. इससे पहले पुलिस ने मौलाना के फार्म हाउस पर दिबश डाली थी लेकिन वहां भी मौलाना का पता नहीं चल सका था. लिहाजा क्राइम ब्रांच अब जानकारी जुटाने के लिए मौलाना के परिवार की तरफ रुख कर चुकी है. Also Read - IB कर्मी अंकित शर्मा हत्याकांड: SIT ने 650 पेज की चार्जशीट दाखिल की, जेल में हैं सभी आरोपी

मौलाना साद के बेटे से दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने 2 घंटे तक पूछताछ की. इस दौरान कई लोगों के बारे में जानकारी भी मांगी गई. बता दें कि मौलाना साद के तीन बेटे हैं लेकिन जिस बेटे से पुलिस टीम ने पूछताछ की वह मरकज के काम काज में ज्यादा सक्रिय रहता है, यही कारण है कि उसके बेटे से क्राइम ब्रांच की टीम ने घंटों तक पूछताछ की और जानकारी जुटाने की कोशिश की. पुलिस ने इस दौरान 20 लोगों के बारे में जानकारी मांगी जो मरकज का हिस्सा रह चुके हैं.