मुंबई: टाटा ट्रस्ट ने सभी प्रभावित समुदायों के लिए 500 करोड़ रुपये दिए हैं. देश के प्रमुख उद्योग घराने टाटा ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए 500 करोड़ रुपए देने की घोषणा की है. टाटा ट्रस्ट के प्रमुख रतन एन. टाटा ने शनिवार को कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए टाटा समूह, टाटा संस की कंपनियां और टाटा ट्रस्ट संकट के इस समय में समाज और सरकार के साथ है और इससे निपटने के लिए 500 करोड़ रुपए देने की घोषणा करते हैं. Also Read - महाराष्‍ट्र में कोरोना से आज 85 मौतें के साथ अब तक करीब 2000 मृत, कुल 60 हजार पॉजिटिव केस

टाटा द्वारा दिए गए इस फंड का उपयोग फ्रंटलाइन पर लगे चिकित्सा कर्मियों की व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों के लिए, बढ़ते मामलों के इलाज के लिए रेस्पिरेटरी सिस्टम, प्रति व्यक्ति टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए टेस्ट किट खरीदने के लिए, संक्रमित रोगियों के लिए मॉड्यूलर उपचार सुविधाएं स्थापित करने, नॉलेज मैनेजमेंट और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण के लिए और आम जनता के लिए किया जाएगा. Also Read - ICC Meeting: टी20 विश्‍व कप 2020 के भविष्‍य को लेकर फैसला 10 जून तक स्‍थगित

इस घोषणा पर टिप्पणी करते हुए चेयरमैन रतन टाटा ने कहा, “भारत और दुनिया भर में स्थिति गंभीर चिंता का विषय है और तत्काल कार्रवाई की जरूरत है. टाटा ट्रस्ट्स और टाटा समूह की कंपनियों ने देश की जरूरतों के लिए अतीत में भी योगदान दिया है. इस समय, समय की आवश्यकता किसी भी अन्य समय से अधिक है. इस असाधारण कठिन अवधि में, मेरा मानना है कि COVID 19 संकट से लड़ने की जरूरतों से निपटने के लिए तत्काल आपातकालीन संसाधनों को तैनात करने की आवश्यकता है, जो मानव जाति के सामने सबसे कठिन चुनौतियों में से एक है.” Also Read - दिल्‍ली एम्स में अभी तक 195 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, 2 की जान गई