नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी व भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने शुक्रवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए भाजपा का ‘संकल्प पत्र’ जारी किया. संकल्प पत्र जारी करते समय नितिन गडकरी ने कहा कि दिल्ली देश का हृदय है और ये एक ऐसा शहर है जो सभी हिन्दुस्तानियों के लिए अभिमान का विषय है. Also Read - सत्ता में रहते हुए भारत की तकदीर और तस्वीर बदलना ही BJP का लक्ष्य: जेपी नड्डा

उन्होंने कहा कि पुराने इतिहास से लेकर पूरे देश का इतिहास दिल्ली से जुड़ा हुआ है और भाजपा का इतिहास भी दिल्ली से ही जुड़ा हुआ है. नितिन गडकरी ने कहा कि आज तक जब-जब भाजपा के नेताओं को अवसर मिला है, जब अटल जी की सरकार थी या आज मोदी जी की सरकार है, हमने हर बार दिल्ली की तकदीर, दिल्ली के भविष्य को बदलने का काम किया है. Also Read - अमित शाह ने चुनावी रैली में कहा- सरकार आई तो पुडुचेरी को बनाएंगे भारत का 'गहना', एक बार मौका तो मिले

शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने संकल्प पत्र जारी करते हुए कहा कि दिल्ली की तकदीर को हम बदलने वाले हैं. दिल्ली में वायु-जल प्रदूषण सबसे बड़ी समस्या है, हमारी केंद्र सरकार ने दोनों ही दिशा में बड़े काम किए जा रहे हैं. Also Read - West Bengal Assembly Elections 2021 Opinion Poll: बंगाल में फिर एक बार ममता सरकार! लेकिन 3 से 100 पर पहुंच सकती है भाजपा; जानिए क्या है जनता का मूड

दिल्ली को लेकर भाजपा के विजन के बारे में बताते हुए नितिन गडकरी ने कहा, “करीब 16 हजार करोड़ रुपये की लागत से वेस्टर्न और ईस्टर्न पेरिफेरल का निर्माण कार्य केंद्र सरकार ने पूरा किया है. इसके कारण दिल्ली में आने वाला डायरेक्ट ट्रैफिक डाइवर्ट हुआ है और इससे दिल्ली में होने वाले वायु प्रदुषण में भी बहुत कमी आई है. दिल्ली में पीने के पानी की समस्या बहुत गंभीर है. लखवाड़ बहुउद्देशीय परियोजना थी जिसमें दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान इन राज्यों में 1970 से विवाद चल रहा था.”

उन्होंने कहा कि ये ऐसी योजना थी कि अगर हिमाचल प्रदेश में प्रोजेक्ट पूरा होता है तो दिल्ली को 2070 तक पीने के पानी की कोई समस्या नहीं रहेगी, इतना पानी यमुना से मिलने वाला है. “मुझे खुशी है कि 28 अगस्त, 2018 को छह राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों को बुलाकर विवाद को सुलाझाया गया.”

गडकरी ने कहा, “16 लेन के दिल्ली मेरठ रोड का अप्रैल में हम उद्घाटन करेंगे, इस 90 किमी के रोड के निर्माण में 8 हजार करोड़ रूपये की लागत आई है. इसके बन जाने के बाद 40 से 45 मिनट में दिल्ली से मेरठ का सफर पूरा हो सकेगा. विश्व के सबसे बड़े दिल्ली-मुंबई हाइवे पर हमने कार्य शुरू कर दिया है. इस पर 1 लाख 3 हजार करोड़ रुपये का खर्च आएगा और आज से 3 साल के अंदर मात्र 12 घंटे में दिल्ली की जनता अपनी गाडी से मुंबई पहुंच जाएगी”

इस संकल्प पत्र के जरिए भाजपा ने राजधानी के करीब दस लाख व्यापारियों को लुभाने की कोशिश की है. भाजपा ने वादा किया है कि सरकार बनने पर व्यापार और उद्योग को प्रोत्साहन दिया जाएगा. भाजपा के संकल्प पत्र में दस लाख व्यापारियों के दुकानों और दफ्तरों को लीजहोल्ड से फ्री होल्ड कराने का वादा किया गया है. दिल्ली प्रदेश कार्यालय पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रकाश जावड़ेकर की मौजूदगी में यह संकल्प पत्र जारी हुआ. प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि व्यापारियों के कल्याण के लिए पार्टी संकल्पित है. भाजपा ने संकल्प पत्र में कहा है कि सरकार बनने पर तीन लाख घरेलू उद्योगों के लिए आवश्यक अनुमति को सरल बनाया जाएगा. इसके अलावा सीलिंग के कारण परेशान व्यापारियों और कारोबारियों को राहत देने के लिए प्रशासनिक और कानूनी कदम उठाए जाएंगे.

भाजपा ने इसमें वादा किया है कि राष्ट्रीय राजधानी में पार्टी की सरकार बनने पर आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) को 2 रुपये किलो गेहूं प्रदान किया जाएगा. साथ ही पार्टी ने वादा किया है कि ईडब्ल्यूएस की छात्राओं को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं योजना के अंतर्गत साइकिल व ई-स्कूटी का वितरण किया जाएगा. इतना ही नहीं दिल्ली में पार्टी की सरकार बनने पर दस नए कॉलेज खोलने का वादा भी भाजपा ने किया है.