नई दिल्ली: 7 साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार निर्भया को इंसाफ मिल गया. निर्भया के दोषियों को शुक्रवार 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी की सजा दी गई. इस दिन को भारतीय इतिहास के लिए काफी एतिहासिक बताया जा रहा है, साथ ही अलग-अलग इंडस्ट्री के लोग इस पर अपने मन की बात कह रहे हैं. Also Read - बढ़ सकती है देश में लॉकडाउन की अवधि, राज्य सरकारों की मांग पर केंद्र कर रहा विचार!

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी 7 साल के लंबे इंतजार के बाद निर्भया को मिले इंसाफ पर एक ट्वीट किया है. पीएम मोदी ने लिखा- ‘न्याय हुआ है. महिलाओं की गरिमा और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए इसका अत्यधिक महत्व है. हमारी नारी शक्ति ने हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है. हमें मिलकर एक ऐसे राष्ट्र का निर्माण करना है, जहां महिला सशक्तीकरण पर ध्यान केंद्रित किया जाए, जहां समानता और अवसर पर जोर दिया जाए.’

निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा मिलते ही तिहाड़ जेल के बाहर अलग ही नजारा देखने को मिला. इस दौरान तिहाड़ के बाहर एकत्रित स्थानीय लोग निर्भया ‘जिंदाबाद’ के नारे लगाते नजर आए. इसके साथ ही उन्होंने दोषियों का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील को खूब कोसा. जैसे ही फांसी की खबर सामने आई, तिहाड़ जेल के गेट नंबर तीन के बाहर इकट्ठा हुई भीड़ ने निर्भया जिंदाबाद, ए. पी. सिंह मुर्दाबाद जैसे नारे लगाने शुरू कर दिए. इस दौरान लोग जश्न में डूबे नजर आए और उन्होंने मिठाई बांटकर अपनी खुशी का इजहार किया.