who said what at pm Narendra Modi video conference meeting with chief ministers full details: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने, लॉकडाउन से चरणबद्ध तरीके से बाहर निकलने और आर्थिक गतिविधियां तेज करने के उपायों पर सोमवार को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये चर्चा की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा कि आगे के रास्ते और सामने आने वाली चुनौतियों को लेकर संतुलित रणनीति बनानी होगी और लागू करनी होगी.Also Read - Covid-19 Infection In Children: बच्चों में कोविड संक्रमण को लेकर नया शोध, सामने आई ये राहत देने वाली बात

प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा, ‘‘आज आप जो सुझाव देते हैं, उसके आधार पर हम देश की आगे की दिशा तय कर पाएंगे.’’ उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया मानती है कि भारत खुद को कोविड-19 से सफलतापूर्वक सुरक्षित रख पाया है, राज्यों ने इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जहां भी हमने सामाजिक दूरी के नियमों का पालन नहीं किया, हमारी समस्याएं बढ़ गयीं. उन्होंने कहा, “हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती रियायतों के बाद भी कोविड-19 को गांवों तक फैलने से रोकने की होगी.” Also Read - Assam-Mizoram Border Dispute: पीएम नरेंद्र मोदी आज असम के सांसदों से करेंगे मुलाकात, शांति स्थापित करने का है प्रयास

यहां जानिए किस मुख्यमंत्री ने क्या बात कही? Who said what at PM Narendra Modi video conference meeting with Chief Ministers full details

तमिलनाडु में 31 मई तक ट्रेन, हवाई सेवाएं शुरु ना करें: मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया
तमिलनाडु में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया कि वे 31 मई तक राज्य में ट्रेन और हवाई सेवाएं शुरू ना करें. सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की वीडियो कांफ्रेंस के दौरान उन्होंने उक्त अनुरोध किया. गौरतलब है कि तमिलनाडु में अभी तक 7,000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. Also Read - ICMR Study Latest Report: आपको कोरोना वायरस के Delta Plus variant से बचाता है COVAXIN

पलानीस्वामी ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा, ‘‘हमें मीडिया के जरिए पता चला है कि चेन्नई-दिल्ली-चेन्नई ट्रेनों की आवाजाही 12 मई से शुरू होगी. चूंकि चेन्नई में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि हो रही है, ऐसे में मेरे राज्य में 31 मई, 2020 तक ट्रेन सेवा शुरू करने की अनुमति ना दें.’’ उन्होने कहा, ‘‘मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि 31 मई, 2020 तक सामान्य हवाई यातायात भी बहाल ना करें.’’

गौरतलब है कि भारतीय रेल कोविड-19 लॉकडाउन के कारण करीब 50 दिन तक यात्री सेवाएं बंद रखने के बाद कल से चुनिंदा मार्गों पर 15 जोड़ी ट्रेनें (अप-एंड-डाउन मिलाकर 30 ट्रेनें) चलायेगी और इन विशेष ट्रेनों में सिर्फ वातानुकुलित श्रेणी (एसी-1, एसी-2 और एसी-3) के डिब्बे होंगे, किराया सामान्य राजधानी ट्रेन के अनुरुप होगा.

अशोक गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूरे देश में लोगों की आवाजाही पर पाबंदी की मांग की. उन्होंने जोन आधारित पाबंदियां हटाने पर भी आपत्ति जताई और कहा कि रेड जोन ही नहीं, ग्रीन जोन में भी लोगों की आवाजाही बंद होनी चाहिए. गहलोत सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की वीडियो कांफ्रेंस में भाग ले रहे थे. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से मनरेगा की तर्ज पर ही शहरी क्षेत्रों के लिए भी रोजगार की गारंटी देने वाली योजना शुरू करने का आग्रह किया और कहा कि लॉकडाउन के कारण दिहाड़ी पर गुजर-बसर करने वाले गरीब, मजदूर व जरूरतमंद तबके की आजीविका बुरी तरह प्रभावित हुई है. उन्हें रोजगार मिलता रहे, इसके लिए जरूरी है कि केन्द्र मनरेगा की भांति ही शहरी क्षेत्र के लिए भी ऐसी योजना लाने पर विचार करे.

ममता बनर्जी
पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने लॉकडाउन पर केंद्र के साथ खड़ी हैं. आज की मीटिंग में उन्होंने लॉकडाउन की अवधि फिर से बढ़ाने की मांग की. उन्होंने पीएम से यह भी कहा कि कोरोना संकट से निपटने में राज्यों के साथ किसी तरह की राजनीति नहीं होनी चाहिए. ममता ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े पीएम मोदी और सभी मुख्यमंत्रियों के सामने कहा कि कोविड-19 महामारी को पछाड़ने के लिए पूरे देश और हर प्रदेश को साथ मिलकर काम करना होगा. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि एक ओर तो केंद्र चाहता है कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन का कड़ाई से पालन हो, वहीं दूसरी ओर वह ट्रेन सेवाएं बहाल कर रहा है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि कोविड-19 को लेकर उनके राज्य को राजनीतिक रूप से निशाना बनाया जा रहा है.

उद्धव ठाकरे
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया कि आपात सेवाओं के कर्मचारियों के लिए मुंबई में लोकल ट्रेन सेवाएं शुरू करें.

के चंद्रशेखर राव
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अभी यात्री ट्रेन सेवा शुरू नहीं करने का आग्रह किया. तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सोमवार को आग्रह किया कि वह इस समय यात्री ट्रेन सेवा को शुरू नहीं करें। इससे लोगों की आवाजाही होगी जिससे कोरोना वायरस की जांच करने और उन्हें पृथक करने में परेशानी आएगी. एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली वीडियो कॉन्फ्रेंस में राव ने कहा कि कोविड-19 का प्रभाव दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और हैदराबाद समेत बड़े शहरों में ज्यादा है.

अरविंद केजरीवाल
प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि निषिद्ध क्षेत्रों को छोड़कर राष्ट्रीय राजधानी में आर्थिक गतिविधियों की अनुमति दी जानी चाहिए.

मनोहर लाल खट्टर
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधामंत्री के सामने अपनी बात रखते हुए कहा कि हरियाणा में गेहूं की अच्छी फसल हुई है, इसकी बदौलत राज्य देश की जीडीपी में बड़ा योगदान करेगा.