नई दिल्‍ली: बिहार के समस्तीपुर से लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद और वरिष्ठ नेता एवं सांसद रामचंद्र पासवान का रविवार को निधन हो गया. उन्‍होंने रविवार को राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल में अंतिम सांस ली. लोकसभा चुनाव 2019 में समस्तीपुर से उन्होंने दूसरी बार जीत दर्ज की थी. बीती 11 जुलाई की रात पासवान को दिल का दौरा पड़ा था. उन्हें दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था. रामचंद्र पासवान केन्द्रीय मंत्री एवं लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान के छोटे भाई थे. पार्टी के नेता चिराग पासवान ने बताया कि उनके चाचा का यहां राम मनोहर लोहिया अस्पताल में दोपहर बाद 1.24 बजे निधन हो गया. रामचंद्र को पिछले सप्ताह दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनका पार्थिव शरीर अंतिम दर्शनों के लिए यहां उनके आवास पर और सोमवार को पटना में लोजपा कार्यालय में रखा जाएगा. उनके परिवार में पत्नी,दो बेटे और एक बेटी है. उनका अंतिम संस्कार कल सोमवार को पटना में किया जाएगा.

बता दें कि शनिवार को दिल्‍ली की पूर्व मुख्‍यमंत्री शीला दीक्ष‍ित का निधन भी बीते शनिवार को दोपहर के बाद हार्ट अट्रैक से हो गया थ. इसके दिल्ली की राजनीति को 24 घंटे के अंदर दूसरा झटका लगा, जब शनिवार को शनिवार की शाम दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन के बाद रविवार की सुबह भाजपा की दिल्ली इकाई के पूर्व अध्यक्ष मांगे राम गर्ग का निधन हो गया. गर्ग गंभीर रूप से बीमार थे और पश्चिम विहार स्थित बालाजी एक्शन हॉस्पिटल में भर्ती थे.

बीते दिनों से एजलेपी सांसद रामचंद्र पासवान की स्थिति गंभीर बनी हुई थी. लोजपा के एक नेता ने बताया था कि पार्टी अध्यक्ष रामविलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान ने दिल्ली स्थित आवास पर रात में सीने में दर्द की शिकायत की थी. इसके बाद उन्हें दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

 

चिराग ने ट्वीट किया,‘‘गहरे दुख के साथ मुझे सूचित करना पड़ रहा है कि मेरे चाचा रामचंद्र पासवान नहीं रहे. नयी दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में दोपहर बाद 1.24 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली.’’

चिराग ने कहा,‘‘रामचंद्र पासवान जी का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शनों के लिए शाम पांच बजे से 18, राजेन्द्र प्रसाद मार्ग स्थित उनके आवास पर रखा जाएगा. इसके बाद पार्थिव देह को पटना ले जाया जाएगा और लोजपा कार्यालय में सुबह 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक रखा जाएगा. शाम चार बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.’’

रामचंद्र चार बार सांसद रहे. वह 1999 में पहली बार, इसके बाद 2004 में और तीसरी बार 2014 में सांसद निर्वाचित हुए थे. मई 2019 में वह बिहार के समस्तीपुर से लोकसभा चुनाव जीते थे. उनके निधन पर गहरा शोक जताते हुए पूर्व सांसद और लोकतांत्रिक जनता दल के वरिष्ठ नेता शरद यादव ने पासवान के परिवार के लिए संवेदनाएं जतायीं.