rape1 Also Read - पति ने अपनी ही पत्नी से 4 दोस्तों के साथ मिलकर किया गैंगरेप, प्रेग्नेंट हुई महिला, मुकदमा दर्ज

दिल्ली के बहुचर्चित निर्भया कांड की आज दूसरी बरसी है. दो साल पहले 2012 की 16 दिसंबर की रात को दिल्ली के वसंत विहार इलाके में 5 आरोपियों ने पैरामेडिकल की एक छात्रा निर्भया से बलात्कार किया था. इसके बाद निर्भया की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी. इस घटना के बाद पुरे देश में लोग निर्भया को इंसाफ दिलाने के लिए सड़को पर उतर गये थे. इसी के चलते केंद्र सरकार को कानून में बदलाव तक करना पड़ा था. लेकिन दो साल बीत जाने के बाद भी महिलाओ के लिए हालात पहले जैसे ही हैं. इसका एक उदाहरण उत्तर प्रदेश की घटना हैं. जिसमे निर्भया कांड की बरसी से एक दिन पहले इलाहाबाद के फूलपुर इलाके के महजुदवा गांव में सोमवार सुबह पुआल के ढेर पर एक महिला की लाश मिलने से सनसनी फ़ैल गयी. महिला को मारने के बाद उस लाश पर तेजाब डालकर जलाया गया . इलाके के लोगो ने तुरंत मामले की जानकारी पुलिस को दी Also Read - यूपी: BJP MLA पर गैंगरेप का आरोप लगाने वाली महिला को मि‍ली पुलिस सुरक्षा

मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस मौके पर पहुंची और हालत का जायजा लिया।पुलिस को शक है कि वहां तीन या चार लोगों ने पहले शराब पी। फिर गैंगरेप के बाद युवती की हत्याकर लाश को तेजाब से जला डाला।फूलपुर पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं और मामले की जांच में जुट गयी है। पुलिस ने मौकाये वारदात से शराब की बोतल, प्लास्टिक की चार गिलास, चाकू सहित एक लाल रंग की शॉल बरामद की हैं. Also Read - मंदिर के बाहर रो रही थी 16 साल की लड़की, पुलिस आई तो खुला राज- 10 लोग 6 महीने से कर रहे थे गैंगरेप

ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश में आये दिन बलात्कार, लूटपाट और हत्या की घटनाओं ने सुरक्षा व्यवस्था की धज्जियां उड़ा रखी हैं. बावजूद इसके सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पुख्ता कानून व्यवस्था होने का दावा करते नजर आते हैं. लगातार हो रही घटनाओ के चलते अखिलेश सरकार विरोधियों के निशाने पर हैं. ऐसे में ताजा मामले ने उत्तर प्रदेश पुलिस की सुरक्षा पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया हैं.

जानकारी के अनुसार महजुदवा गांव में रामबली के खेत में रखे पुआल के ढेर के चौतरफा कुत्तों को जमा देख घरेलू पशु चराने गए लोगों को शक हुआ। उन्होंने जाकर देखा तो पुआल पर किसी युवती की लाश पड़ी थी। उसके सिर्फ दोनों पैर और बायां हाथ ही सलामत बचा था। बाकी कमर के ऊपर का पूरा हिस्सा जला हुआ था।

पुलिस के मुताबिक महिला की उम्र 28 या 30 साल है और वह शादीशुदा है. साथ ही महिला को कही लाकर सामूहिक बलात्कार के बाद मार डाला गया था। शिनाख्त मिटाने के लिए लाश पर तेजाब डाल दिया गया।

बता दे कि जहाँ यह घटना घटी वह जगह फूलपुर-प्रतापपुर मार्ग से लगभग आधा किलोमीटर की दूरी पर है।बहरहाल पुलिस यह पता लगाने में जुटी हैं कि युवती कौन थी और कहां की रहनेवाली थी. साथ ही पुलिस गैंगरेप और हत्या का मामला दर्जकर आरोपियों की तलाश कर रही हैं.