नई दिल्ली. सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने पर सीमा सुरक्षा बल (BSF) के डीजी केके शर्मा ने कहा है कि अपने सैनिक की शहादत का बदला लेने के लिए हमने एलओसी पर बड़ी कार्रवाई की है. उन्होंने कहा, बीएसएफ ने मुंहतोड़ कार्रवाई की है. दूसरे पक्ष को हमेशा के मुकाबले कहीं अधिक नुकसान पहुंचाया है. हम दोबारा भी यह करेंगे.

केके शर्मा ने कहा कि यह पता चल गया है कि बैट (BAT) अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भी हरकत कर सकती है. इसलिए अग्रिम ठिकानों पर तैनात बीएसएफ कर्मियों से चौकस रहने को कहा गया है. खास बात ये है कि उन्होंने ये स्वीकार किया कि हेड कांस्टेबल नरेंद्र सिंह पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) की कार्रवाई में शहीद हुए.
सर्जिकल स्ट्राइक के डर से सीमा से पांच किमी दूर जा चुके हैं पाक सैनिक, बीएसएफ ने कहा बदला लेंगे

बता दें कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इशारा किया है कि भारतीय जवानों ने पाकिस्तान की तरफ से हो रहे हमले और घुसपैठ का करारा जवाब दिया है. सांबा जिले के अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर शहीद नरेंद्र सिंह की हत्या पर बात करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, कुछ हुआ है. मैं बताऊंगा नहीं. ठीक-ठाक हुआ है. विश्वास रखना ठीक-ठाक हुआ है दो-तीन दिन पहले. और आगे भी देखिएगा क्या होगा.

गृहमंत्री ने कहा, मैंने अपने बॉर्डर सिक्युरिटी फोर्स के जवानों से कहा था कि पड़ोसी हैं. पहली गोली मत चलाना. लेकिन एक भी गोली उधर से चल जाती है तो फिर अपनी गोलियों को मत गिनना. बता दें कि गृहमंत्री के इस बयान के बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक की ही तरह एक और कार्रवाई की है.