पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर शुक्रवार को यहां अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और पाकिस्तानी रेंजरों के बीच मिठाइयों का आदान-प्रदान नहीं हुआ। पंजाब और जम्मू एवं कश्मीर में हाल ही में हुए आतंकवादी हमलों के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बना हुआ है। इसके चलते बीएसएफ के अधिकारियों और पाकिस्तानी रेंजरों ने आपस में मिठाइयों के आदान-प्रदान की परंपरा का पालन नहीं किया।Also Read - #BSF Raising Day: स्थापना दिवस पर पाकिस्तानी सिपाहियों को मिठाई बाटेंगे जवान, पीएम मोदी ने दी बधाई

बीएसएफ के एक अधिकारी ने यहां कहा, “दोनों तरफ से मिठाइयों की पेशकश नहीं की गई।” दोनों पक्षों ने इस सप्ताह हुई सीमा कमांडरों की एक बैठक में मिठाइयों का आदान-प्रदान न करने का फैसला किया था। Also Read - ममता बनर्जी अगले हफ्ते जा सकती हैं दिल्ली, इन मुद्दे को लेकर PM मोदी से करेंगी मुलाकात

पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को मनाया जाता है। भारत में स्वतंत्रता दिवस इसके एक दिन बाद 15 अगस्त को मनाया जाता है। Also Read - BSF Group C Recruitment 2021: बीएसएफ में 10वीं पास लोगों के लिए शानदार मौका, सब इंस्पेक्टर, कॉन्स्टेबल के पद पर निकली भर्ती

दोनों देशों के बीच चुनिंदा अवसरों पर मिठाइयों के आदान-प्रदान की परंपरा पिछले साल अक्टूबर में ईद पर टूटी थी।

आमतौर पर पाकिस्तानी रेंजर पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर मिठाइयों की पेशकश करते हैं और बीएसएफ भारत के स्वतंत्रता दिवस पर मिठाइयां भेंट करता है।

पाकिस्तानी रेंजरों ने इस साल हालांकि 23 मार्च को पाकिस्तान दिवस पर बीएसएफ को मिठाइयों की पेशकश की थी।

ऐसा माना गया है कि पंजाब के गुरदारपुर जिले के दीनानगर शहर में 27 जुलाई को हुए आतंकवादी हमले में शामिल आतंकवादी पाकिस्तानी थे। इस हमले में सात लोगों की मौत हो गई थी।

जम्मू एवं कश्मीर के ऊधमपुर में पांच अगस्त को आतंवादियों ने बीएसएफ के एक काफिले पर हमला किया था। इस हमले में संलिप्त रहे एक आतंकवादी पकड़ लिया गया था, जिसकी पहचान पाकिस्तानी नागरिक के रूप में हुई है। पाकिस्तान ने हालांकि उसे अपना नागरिक मानने से इंकार कर दिया है।