नई दिल्ली/आईजौल. पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव संपन्न हुए. इस चुनाव में कांग्रेस जहां हिंदी हर्टलैंड मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सामने आई, वहीं तेलंगाना में केसीआर ने एकतरफा जीत दर्ज की. मिजोरम में पिछले 10 साल से सत्ता में काबिज कांग्रेस की विदाई हुई और एमएनएफ ने एकतरफा जीत दर्ज की. लेकिन मिजोरम में सबसे खास बात बीजेपी के साथ रहा, क्योंकि इस राज्य में पहली बार बीजेपी ने जीत का स्वाद चखा है. उसे एक सीट पर जीत मिली है.

मिजोरम में मिजो नेशनल फ्रंट को 26 सीटें मिली हैं. कांग्रेस को सिर्फ 5 सीटों पर संतोष करना पड़ा. बीजेपी के लिए खुशखबरी लेकर पूर्व कांग्रेस नेता और कांग्रेस की सरकार में मंत्री रहे बुद्ध धन चकमा. उन्होंने ही मिजोरम में बीजेपी का खाता खोला है. दो महीने पहले ही उन्होंने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी का दामन थामा था.

टुईचॉन्ग से जीत हासिल की
बुद्ध धन चकमा ने टुईचॉन्ग से जीत हासिल की है. उन्हें 11419 वोट मिले. उन्होंने एमएनएफ नेता 1594 वोट से हराया. बताया जा रहा है कि बुद्द का चकमा समुदाय के लोगों में अच्छी पकड़ है. वह जिस विधानसभा से जीते हैं, वहां इस समुदाय के लोग बहुतायत में हैं.

अगस्त 2017 में दिया था इस्तीफा
बुद्ध धन ने 21 अगस्त 2017 को चकमा समुदाय के छात्रों के मुद्दे पर मंत्री पद से इस्तीफा दिया था. देशभर के मेडिकल कॉलेजों द्वारा इस समुदाय के छात्रों को कोटा के अनुसार होने पर भी एमबीबीएस के योग्य नहीं माना गया था. इसके बाद उन्होंने छात्रों के लिए संघर्ष किया.बुद्ध धन चकमा ने 16 अक्टूबर 2018 को कांग्रेस पार्टी से अलविदा लिया था.