नई दिल्ली: वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि सरकार ने वित्त वर्ष 2019-20 के अंतरिम बजट में रेलवे को 64,587 करोड़ रुपये का आवंटन किया है. संसद में अंतरिम बजट प्रस्तुत करते हुए गोयल ने कहा, “भारतीय रेलवे के इतिहास में अब तक का सबसे सुरक्षित वर्ष रहा है. हमने उत्तर पूर्व में माल ढुलाई सेवा शुरू की है.”

Budget 2019: गरीबों का संसाधनों पर पहला अधिकार, गांवों में शहरी सुविधाओं का होगा विस्तार

हटेंगी सभी मानव रहित क्रासिंग
उन्होंने कहा, “ब्रॉड गेज नेटवर्क के सभी मानव रहित क्रासिंग को पूरी तरह से हटा दिया जाएगा.” इंजनरहित ट्रेन18 के विनिर्माण के बारे में उन्होंने कहा, “वंदे भारत एक्सप्रेस स्पीड, सुरक्षा और सेवा के मामले में विश्वस्तीय सेवा मुहैया कराएगी. हमारे इंजीनियरों द्वारा विकसित यह बड़ी सफलता है, जो मेक इन इंडिया कार्यक्रम को गति प्रदान करेगी और रोजगार पैदा करेगी.” उन्होंने कहा, “रेलवे को बजटीय आवंटन में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 64,587 करोड़ रुपये प्रदान किया गया है.” उन्होंने आगे कहा, “वास्तव में रेलवे का कुल पूंजीगत खर्च 1,58,658 करोड़ रुपये रहेगा, जो ऐतिहासिक है.” गोयल ने यह भी कहा कि रेलवे का परिचालन अनुपात कम होकर वित्त वर्ष 2019-20 में 95 फीसदी रहेगा, जबकि वित्त वर्ष 2018-19 में यह 96.2 फीसदी था.

Budget 2019: वित्त मंत्री ने राजकोषीय घाटा जीडीपी के 3.4 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया