नई दिल्ली: वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि पिछले पांच वर्ष में विश्व में भारतीय अर्थव्यवस्था सबसे चमकदार सितारे की तरह उभरा है और इस दौरान देश ने सबसे तेज सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर्ज की है. यह वृद्धि किसी भी पूर्ववर्ती सरकार की तुलना में सबसे अधिक है. लोकसभा में 2019-20 का अंतरिम बजट पेश करते हुए गोयल ने कहा कि भारत की पहचान पिछले पांच वर्ष में सबसे चमकते हुए सितारे के रूप में की गयी है.

Budget 2019: गरीबों का संसाधनों पर पहला अधिकार, गांवों में शहरी सुविधाओं का होगा विस्तार

उन्होंने कहा कि भारत ने सबसे तेज सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर्ज की है. यह वृद्धि किसी भी पूर्ववर्ती सरकार की तुलना में सबसे अधिक है. गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत राजग सरकार ने दहाई अंक वाली मुद्रास्फीति पर लगाम लगायी और हमने कमर तोड़ महंगाई की कमर तोड़ दी. वित्त मंत्री ने कहा कि चालू वित्त वर्ष 2018-19 में राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 3.4 प्रतिशत रहने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2019-20 का बजट पेश करते हुए गोयल ने कहा कि चालू खाते का घाटा (कैड) इस साल जीडीपी का करीब ढाई प्रतिशत रहेगा.


उन्होंने बताया कि पिछले पांच साल में देश में 239 अरब डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) आया है. गोयल ने कहा, ‘‘हमने एफडीआई नियमों को उदार किया और स्वत: मंजूर मार्ग से अधिक निवेश की अनुमति दी है.’’ वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने माल एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू कर व्यवस्था में एक बड़ा सुधार आगे बढ़ाया है. गोयल ने कहा कि यदि मुद्रास्फीति को नियंत्रित नहीं किया जाता तो हमारे परिवारों को रोजमर्रा के इस्तेमाल के सामान पर 35 से 40 प्रतिशत अधिक खर्च करना पड़ता.

Budget 2019:  वित्त मंत्री ने कहा- पांच साल में देश में रिकॉर्ड 239 अरब डॉलर का विदेशी निवेश आया