नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को अर्थव्यवस्था को गति देने के लिये जहां एक तरफ उदारीकरण को बढ़ावा देने पर जोर दिया वहीं दूसरी तरफ लोगों के जीवन को सुगम बनाने के लिये कई कदमों की घोषणा की. बजट के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने वित्त मंत्री की जमकर तारीफ की. इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी आभार जताया. अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा- “किसानों, गरीबों, वेतनभोगी मध्यम वर्ग और व्यवसायी वर्ग को लाभ पहुँचाने वाले एक सर्वस्पर्शी व कल्याणकारी आम बजट के लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी को हृदय से बधाई देता हूँ.” #JanJanKaBudget

अपने दूसरे ट्वीट में अमित शाह ने लिखा- “इस बजट में, मोदी सरकार ने कर प्रणाली को तर्कसंगत बनाने, बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने, बैंकिंग प्रणाली को मजबूत करने, निवेश को बढ़ावा देने और व्यापार करने में आसानी के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं, जो मोदी सरकार के 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के संकल्प को आगे बढ़ाएगा.”

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने करदाताओं को बड़ी राहत देते हुए कर कानूनों को सरल बनाने के लिए नयी वैकल्पिक व्यक्तिगत आयकर व्यवस्था पेश की है. इसके तहत 2.5 लाख रुपये तक की आय कर मुक्त रहेगी. 2.5 से पांच लाख तक की आय पर पांच प्रतिशत की दर से कर लगेगा, लेकिन 12,500 रुपये की छूट बने रहने से इस सीमा तक की आय पर कर नहीं लगेगा. पांच से साढ़े सात लाख रुपये तक की आय पर 10 प्रतिशत, साढ़े सात से 10 लाख रुपये तक की आय पर 15 प्रतिशत, 10-12.5 लाख रुपये तक की आय पर 20 प्रतिशत और 12.5 से 15 लाख रुपये तक की आय पर 25 प्रतिशत की दर से आयकर का प्रस्ताव है.

पंद्रह लाख रुपये से ऊपर की आय पर 30 प्रतिशत की दर से आयकर लगेगा.

नई कर व्यवस्था

0 से 2.5 लाख रुपये तक ——– कर मुक्त

2.5 से 5 लाख तक ———— 5 प्रतिशत

5 से 7.50 लाख तक ———- 10 प्रतिशत

7.5 से 10 लाख तक ———– 15 प्रतिशत

10 से 12.5 लाख तक ———– 20 प्रतिशत

12.5 से 15 लाख तक ———– 25 प्रतिशत

15 लाख रुपये से ऊपर की आय पर —– 30 प्रतिशत