गाजियाबादः जुलाई 2016 में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गैंग रेप की किशार हुई एक किशोरी को एक बार फिर ऐसी ही घटना का सामना करना पड़ा है. पिछले दिनों कोचिंग क्लास से लौट रही किशोरी के साथ तीन लड़कों ने छेड़खानी की. इसको लेकर प्रोविजन ऑफ द प्रोटेक्शन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेज एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. यह वही किशोरी है जो जुलाई 2016 में अपने परिवार के छह सदस्यों के साथ एक कार से बुलंदशहर जा रही थी तभी बदमाशों ने उनकी कार पर हमला कर परिवार के पुरुष सदस्यों को बंधक बना लिया था और किशोरी व उसकी मां के साथ बलात्कार किया था. बदमाशों ने परिवार से लूटपाट भी की थी.

किशोरी के पिता ने पुलिस थाने में इस बारे में रिपोर्ट दर्ज करवाई है. लड़की के पिता ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि 15 साल की उनकी बेटी शनिवार को शाम करीब साढ़े पांच बजे अपनी गाड़ी से गाजियाबाद में अपने घर लौट रही थी, तभी कुछ बदमाश उसके पीछे लग गए. उसके साथ जबर्दस्ती करने की कोशिश की और विरोध करने पर उसका फोन छीन लिया. पुलिस ने इस आधार पर मामला दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. किशोरी कक्षा 10 की छात्रा है.

छेड़खानी का विरोध करने पर जलाई गई पीड़िता की मौत, खबर सुन मां को हार्ट अटैक

उन्होंने बताया कि बाइक पर सवार बदमाशों ने उनकी बेटी का हाथ पकड़ लिया और उसके साथ जबर्दस्ती की. किशोरी ने जब विरोध किया तो वे उसकी (किशोरी) गाड़ी की चाबी निकालकर और फोन छीनकर फरार हो गए. इतने में कुछ लोग लड़की का बचाव करने आए लेकिन तब तक बदमाश फरार हो चुके थे. लेकिन कुछ समय बाद वे फिर किशोरी के पीछे-पीछे लग गए. लेकिन तब तक किशोरी अपने घर पहुंच गई थी.

गाजियाबाद सिटी के एसपी श्लोक कुमार ने बताया कि किशोरी ने रवि सैनी और आशू भाटी के रूप में दो बदमाशों की पहचान की है. ये दोनों उसी इलाके के हैं जिस इलाके में लड़की रहती है. इन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. किशोरी ने तीसरे आरोपी की पहचान नहीं की है.

दूसरी जाति के लड़के से शादी करने पर पैरेंट्स ने ही बीच सड़क पर पीट-पीटकर मार डाला