नई दिल्ली: प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ की वजह से पश्चिम बंगाल में छह लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आई है. आपदा प्रबंधन मंत्री के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में इस चक्रवात ने लगभग 2 लाख 97 हजार लोग प्रभावित हुए हैं. इसके अलावा तूफान ने ओड़िसा के के तटीय जिलों में भारी तबाही मचाई, जिससे पेड़ उखड़ गए और हजारों घर और सैकड़ों फोन टॉवर क्षतिग्रस्त हो गए हैं.

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा रविवार को जारी बयान के अनुसार, प्रचंड चक्रवात ‘बुलबुल’ बांग्लादेश की ओर बढ़ चुका है. हालांकि अभी भी उसके प्रभाव से पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना में 80 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही हैं. पश्चिम बंगा के आपदा प्रबंधन मंत्री जावेद खान का कहनहाा है कि चक्रवाती तूफान के चलते लगभग 2 लाख 97 हजार लोग प्रभावित हुए हैं. जबकि राज्य में छह मौतें हुई हैं. इसमें पांच उत्तर 24 परगना में और एक मौत दक्षिण 24 परगना में हुई है.

 

ओडिसा में एक व्यक्ति की मौत की सूचना
वहीं ओडिशा के केंद्रापाड़ा जिले में एक व्यक्ति के मारे जाने की जानकारी मिली है. हालांकि इससे पहले मंत्रालय ने ओडिशा में दो लोगों के मारे जाने की जानकारी दी थी. पश्चिम बंगाल में ‘बुलबुल’ से कुल 7815 घर क्षतिग्रस्त हुए हैं और करीब 870 पेड़ों के गिरने की जानकारी सामने आई है. वहीं मंत्रालय ने बताया कि 950 फोन टॉवर भी इस तूफान के कारण क्षतिग्रस्त हुए हैं. पश्चिम बंगाल में बिजली और दूरसंचार सेवाओं को पुन: बहाल करने का काम शुरू हो गया है. मंत्रालय ने कहा कि चक्रवात के प्रभाव के कारण ओडिशा के चार जिले गंभीर रूप से प्रभावित हुए हैं. मंत्रालय ने कहा कि तूफान के बाद सड़कों पर गिरे लगभग सभी पेड़ों को हटाया जा चुका है. मंत्रालय ने आगे बताया कि ओडिशा में भारी पैमाने पर फसलों को नुकसान पहुंचा है.