चंडीगढ़| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता इंद्रेश कुमार ने गाय के मांस को जहर करार दिया और दावा किया कि इसके मूत्र से कैंसर जैसी बीमारियों का इलाज किया जा सकता है तथा गोबर को बंकर बनाने में इस्तेमाल किया जा सकता है. उन्होंने गाय को ‘मानवता की मां’ करार दिया और कहा कि इसके दूध और गोबर के काफी लाभ हैं तथा इन्हें विभिन्न कार्यों में इस्तेमाल किया जा सकता है. Also Read - लोगों के न आने से भूखों मरने की कगार पर जीबी रोड की सेक्स वर्कर, RSS ने पहुंचाया राशन

इंद्रेश ने दावा किया, ‘‘विश्व की 90 प्रतिशत आबादी गाय के दूध पर निर्भर है और इसीलिए यह मानवता की मां कही जाती है। गाय जहरीली चीजों को अपने पास ही रखती है और हमें दूध तथा गोबर देती है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘गोबर को बंकर बनाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। आम आदमी इसे मकान बनाने के लिए सीमेंट के रूप में भी इस्तेमाल करता है। इसके मूत्र में औषधीय तत्व होते हैं जो कैंसर जैसी बीमारियों का इलाज में काम आते हैं.’’ आरएसएस नेता ने कहा कि गाय का मांस जहर है और किसी भी धर्म में गौवध की अनुमति नहीं है. Also Read - लॉकडाउन में RSS ने मदद के लिए बढ़ाए हाथ, शिविर लगाकर लोगों में बांटे राहत सामग्री

उन्होंने कहा, ‘‘यदि कोई कहता है कि वह जहर (गाय का मांस) खाएगा तो हम उसके लिए प्रार्थना कर सकते हैं कि उसे सही समझ आए.’’ वह यहां फोरम फॉर अवेयरनेस ऑफ नेशनल सिक्योरिटी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे. यह पूछे जाने पर कि क्या वह लोगों से गौमांस नहीं खाने को कह रहे हैं, उन्होंने कहा कि वह सचाई बता रहे हैं. यू तो तंबाकू को भी जहर कहा जाता है लेकिन लोग वह भी खाते हैं. Also Read - कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर जनता कर्फ्यू में योगदान दें स्वयंसेवक: आरएसएस