नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को संविधान की भावना से किया गया खिलवाड़ बताया है. सीएए के खिलाफ शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन पर अखिलेश ने कहा कि मोदी सरकार को जनभावनाओं का सम्मान करना चाहिए. उन्होंने कहा कि शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे लोगों से भाजपा और सरकार के लोगों को बातचीत भी करनी चाहिए. Also Read - केरल सरकार का बड़ा फैसला, नागरिकता कानून और सबरीमाला मामले को लेकर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मुकदमे वापस होंगे

अखिलेश यादव ने संसद भवन परिसर में शुक्रवार को आईएएनएस से बातचीत में कहा, “भारत में तमाम जातियों और धर्म के लोग रहते हैं. यही हमारी अच्छाई है. जो यहां आया उसको हमने अपना लिया या उसने देश को अपना लिया. यही तो हमारी संस्कृति की विशेषता है.” Also Read - Kerala Assembly Elections 2021: मेट्रो मैन श्रीधरन के बाद अब भाजपा में शामिल होंगी PT Usha, जानें क्या है भाजपा की मंशा

अखिलेश यादव ने कहा, “हम वसुधैव कुटुंबकम की बात करते हैं. ऐसे में तो यह नारा ही खराब हो रहा. अब हम जाकर अमेरिका में कहेंगे कि उस संस्कृति से आते हैं, जिसमें कहा गया है कि धरती पर सब लोग एक परिवार के हैं तो फिर हम किस रास्ते पर जा रहे हैं.” Also Read - Rajasthan budget 2021-22 LIVE: CM गहलोत की बड़ी घोषणा, सभी महिलाओं को मिलेगी Free Sanitary Napkin

शाहीन बाग को मुद्दा बनाए जाने के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा का यह खेल पुराना है. वह 2014, 2017 और 2019 में भी यह खेल खेल चुकी है. अखिलेश यादव ने सरकार से युवाओं के सपनों को पूरा करने की दिशा में काम करने की अपील की. उन्होंने कहा कि बेहतर है कि सरकार नए कॉलेज और यूनिवर्सिटीज बनाए और गंगा की सफाई पर ध्यान लगाए.