नई दिल्ली: दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक में शामिल नहीं होगी. पार्टी का कहना है कि उन्हें इस बैठक के लिए आमंत्रित नहीं किया गया है. कांग्रेस के नेतृत्व में होने वाली विपक्षी पार्टियों की बैठक में बहुजन समाज पार्टी (बसपा), तृणमूल कांग्रेस और शिवसेना भी शामिल नहीं हो रही हैं.

आप नेता संजय सिंह ने कहा कि पार्टी को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ कांग्रेस द्वारा बुलाई गई बैठक के बारे में सूचित नहीं किया गया है. उन्होंने कहा, “आप को बैठक के बारे में सूचित नहीं किया गया था. इसमें भाग लेने का सवाल ही नहीं उठता.”

इससे पहले महाराष्ट्र में कांग्रेस की सहयोगी शिवसेना ने भी सोमवार को यह दावा किया कि उसे विपक्षी दलों की बैठक के बारे में जानकारी नहीं है. वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी व बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने भी स्पष्ट कर दिया है कि वे इस बैठक में शामिल नहीं होंगे. कांग्रेस द्वारा सीएए और एनआरसी के मुद्दे के साथ ही जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रों पर हुए हमले के मुद्दे पर बैठक बुलाई गई है.

(इनपुट-आईएएनएस)