नई दिल्ली: शाहीनबाग में सीएए और एनआरसी को लेकर पिछले 70 दिनों से विरोध प्रदर्शन चल रहा है, वहीं उसी को देखते हुए आज (रविवार को) जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे भी महिलाओं ने इस कानून के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है. इसकी वजह से जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर एक तरफ का रोड बंद है, तो वही मेट्रो स्टेशन पर न तो मेट्रो रूक रही है और न ही लोगों को अंदर और बाहर जाने दिया जा रहा है. शनिवार देर रात करीबन 200 से 300 महिलाओं ने आकर मेट्रो के नीचे प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था, जिसके बाद वहां बड़ी संख्या में पुलिस के जवान और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया. महिला प्रदर्शनकारियों को देखते हुए महिला जवानों को भी तैनात किया गया है. Also Read - कोरोना से लड़ने के लिए क्या है दिल्ली के सीएम केजरीवाल का 5T प्लान, आखिर कहां से आया ये आइडिया?

अभी फिलहाल जिस रास्ते पर प्रदर्शनकारी बैठे हैं, वहां एक तरफ रोड खुली हुई है जिसकी वजह से जाम भी लग रहा है. प्रदर्शनकारी महिलाओं ने रोड नंबर 66 जाम कर रखा है, जिस सड़क पर महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं, वह सड़क सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ती है. प्रदर्शनकारी महिलाओं ने बताया कि शाहीन बाग की तरह वे भी सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन करेंगी. सभी महिलाओं ने हाथ में तिरंगा लिया हुआ है और आजादी के नारे भी लगा रही हैं. साथ ही प्रदर्शन में शामिल कई महिलाओं ने अपनी बांह पर नीला बैंड लगा रखा है और जय भीम का नारा लगा रही है.

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने प्रमोशन में आरक्षण को लेकर आज 23 फरवरी को भारत बंद बुलाया है, जिसका असर भी देश में देखने को मिल रहा है और प्रदर्शनकरियों का ये भी कहना है कि भारत बंद को देखते हुए भी हमने ये सड़क बंद किया है. भाजपा नेता विजय गोयल ने आईएएनस से जाफराबाद में हो रहे प्रदर्शन के मामले पर कहा, “यह नियोजित तरीके से हो रहा है, विपक्षी दल इसके पीछे हैं जो मोदी जी को हरा नहीं पाए. कानून संसद में पास किया गया है उसके बाद इस तरीके से करना गलत है और अभी इसको फैलाया जा रहा है.” उन्होंने आगे कहा, “पुलिस चाहती तो कोई भी एक्शन ले सकती थी, लेकिन बच्चे-महिलाएं हैं, इस वजह से हम नहीं चाहते की किसी तरीके की हिंसा हो.” विजय गोयल ने दिल्ली सरकार को घेरते हुए कहा, “केजरीवाल को बस राजनीति करनी है.”