CAA Protest in Lucknow: संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (एनआरसी) के विरोध में लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी है. कड़ाके की ठंड के बावजूद यहां सैकड़ों महिलायें प्रदर्शन कर रही हैं. वहीं, उत्तर प्रदेश पुलिस ने इन प्रदर्शनों में शामिल मशहूर शायर मुनव्वर राना (Munawwar Rana) की दो बेटियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. यूपी पुलिस ने इन दोनों के साथ 16 अन्य महिलाओं के खिलाफ मुकदमा किया है. पुलिस का कहना है कि इन महिलाओं ने पुलिस के साथ बदसुलूकी की है.

मुनव्वर राणा की बेटियां सुमैया राना (Sumaiyya Rana) और फौजिया राना (Faujia Rana) लखनऊ में नागरिकता कानून के विरोध में चल रहे प्रदर्शन में शामिल हैं. दोनों ही प्रदर्शनों का नेतृत्व कर रही हैं. हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, पुलिस ने इस बीच इनके खिलाफ ये कार्रवाई की है. बता दें कि खुले आसमान के नीचे पिछले शुक्रवार से बड़ी संख्या में महिलाएं दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर पुराने लखनऊ स्थित घंटाघर के सामने प्रदर्शन कर रही हैं. उनके साथ बच्चे भी हैं.

दो दिन पहले ही यूपी पुलिस (UP Police) ने प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं से उनके कंबल आदि सामान छीन लिया था. कंबल रात में छीने गए थे. बहरहाल, प्रदर्शन कर रही महिलाओं का कहना है कि सरकार जब तक सीएए और एनआरसी को वापस नहीं लेती है तब तक वह अपना धरना समाप्त नहीं करेंगी. महिलाओं के धरने को सामाजिक संगठनों और आम नागरिकों का भी समर्थन मिल रहा है.

18 जनवरी को सिख समुदाय के कुछ लोगों ने धरना स्थल पर पहुंचकर महिलाओं को खाने-पीने का सामान दिया. खाना बांटने वाले इन लोगों ने कहा था कि सीएए के दायरे से जिस तरह से मुसलमानों को बाहर रखा गया, वह देश की गंगा जमुनी तहजीब के खिलाफ है, लिहाजा वह इन महिलाओं का समर्थन करते हैं. हालात के मद्देनजर मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. महिलाओं ने पुलिसकर्मियों को गुलाब के फूल भी भेंट किये थे.