नई दिल्लीः नागरिकता संशोधन कानून(Citizenship Amendment Act) को लेकर अब पूरे देश में जोरदार प्रदर्शन हो रहे हैं. पहले यह विरोध एक राज्य आधे राज्य में दिख रहा था लेकिन अब इसने देश के कई राज्यों को अपने चपेट में ले लिया है. राजधानी दिल्ली सहित अब इसकी आग यूपी, बिहार, कर्नाटक, चंडीगढ़, महाराष्ट्र में पूरी तरह से फैल गई है. जहां कुछ दिन पहले तक यह विरोध प्रदर्शन सिर्फ छात्रों तक सीमित था अब इसमें राजनीतिक पार्टियां भी खुलकर सामने आ गई हैं.

गुरुवार सुबह से ही यूपी(Uttar Pradesh) के कई शहरों में जोरदार प्रदर्शन देखने को मिला. संभर में प्रदर्शनकारियों ने चार बसों को आग के हवाले कर दिया. वहीं लखनऊ(Lucknow) में भी पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई जिसके बाद पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा.

बढ़ते विरोध प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है जिसके मद्देनजर पूर्वी दिल्ली में धारा 144 लगा दी गई है. और इसके साथ ही कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया गया है. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए जेएनयू के पूर्व छात्र नेता अहमद खालिद को हिरासत में लिया है.

दिल्‍ली पुलिस को एक खूफिया इनपुट मिला जिसमें यह बताया गया है कि सीएए के विरोध में दिल्ली में 12 जगहों पर बड़े प्रदर्शन की प्लानिंग की गई है. आपको बता दें कि पुलिस ने पहले से ही सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर लिए थे इसी को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने पहले से ही लाल किला मैदान में 30 अधिक बसों को खड़ी कर रखा था. पुलिस को दिए गए इंटेलिजेंस इनपुट में बताया गया है कि राष्‍ट्रीय राजधानी में जंतर-मंतर, जामिया नगर, संसद मार्ग के पास, लाल किला, मंडी हाउस, राजघाट और कालिंदी कुंज ऐसी जगहें है जहां पर भारी तादात में विरोध प्रदर्शन हो सकता है.


नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ आज विपक्षी पार्टियां देशभर में प्रदर्शन कर रही हैं. इन पार्टियों को कई यूनिवर्सिटीज़ का समर्थन भी मिला है. मुंबई में कांग्रेस-NCP के प्रदर्शन में शिवसेना ने शामिल होने से इनकार कर दिया है वहीं बिहार में लेफ्ट के प्रदर्शन से लालू यादव की पार्टी RJD ने दूरी बना ली है. कर्नाटक में प्रदर्शन कर रहे रामचंद्र गुहा को हिरासत में ले लिया है.

विरोध प्रदर्शन को देखते हुए राजधानी दिल्ली सहित मुंबई और बैंगलुरू तक पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है. दिल्ली के लाल किला इलाके के पास 60 संगठन इस बिल के विरोध में प्रदर्शन के लिए सड़क पर उतरे हैं. जमा हुए प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई. पुलिस ने ऐहतियातन कई लोगों को हिरासत में भी लिया है. वहीं यूपी में लखनऊ में भी नागरिकता संशोधन एक्ट के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं. वहीं कर्नाटक के कालबुर्गी में लेफ्ट विंग और मुस्लिम संगठनों का प्रदर्शन. पुलिस ने 20 से ज्यादा लोगों को डिटेन किया.

बैंगलुरू पुलिस ने जनता से अपील की है कि वह किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दें. नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ देशव्यापी प्रदर्शनों को देखते हुए पूरे देश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

जगह जगह पर पुलिस तैनात है और इसके साथ ही संवेदनशील इलाकों में बैरिकेटिंग लगाई गई है. दिल्ली के कई इलाकों में इंटरनेट, वाइस कॉल पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं. टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने ट्वीट करके इस संबंध में जानकारी दी.

दिल्ली में मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन के एंट्री और एग्जिट गेट बंद कर दिए गए हैं.