हैदराबाद: संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर चल रहे प्रदर्शनों के बीच भारतीय जनता पार्टी के नेता और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने रविवार को कहा कि यह संशोधित कानून वापस नहीं होगा और सरकार इस पर अडिग है.

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा कि हम सीएए के मौजूदा रूप में कोई बदलाव नहीं करने जा रहे हैं. वे लोग जो ‘भयावह घटनाओं’ के साथ इसका विरोध कर रहे हैं, उन्हें यह समझने की जरूरत है कि इस पर कोई विचार नहीं होगा. उन्होंने कहा कि संसद द्वारा पारित कानून को सभी राज्यों में लागू करना पड़ेगा. इसको लेकर कोई किंतु-परंतु नहीं होगा. जम्मू-कश्मीर समेत देश के सभी हिस्सों में यह कानून लागू होगा.

संशोधित नागरिकता कानून के बहाने युवाओं को गुमराह किया जा रहा है: पीएम मोदी

देश में ‘मजबूती’ के साथ रह रहे हैं मुस्लिम
नकवी ने कहा कि मैं भारत के मुस्लिमों और प्रत्येक व्यक्ति को आश्वस्त करना चाहता हूं कि उनका सामाजिक, आर्थिक, धार्मिक और संवैधानिक अधिकार सुरक्षित हैं. उन्होंने आगे कहा कि भारत के मुस्लिम देश में ‘मजबूती’ के साथ रह रहे हैं न कि ‘मजबूरी’ से.