कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान कर्नाटक के मंगलुरु में मारे गए दो लोगों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये का मुआवजा देगी. पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ दल की इस घोषणा पर कर्नाटक में भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. तृणमूल कांग्रेस की ट्रेड यूनियन इकाई इंडियन नेशनल तृणमूल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (आईएनटीटीयूसी) की प्रदेश अध्यक्ष डोला सेन ने कहा कि मंगलुरु में तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल के प्रस्तावित दौरे के दौरान मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये के चेक दिए जाएंगे .Also Read - मेडिकल कोर्स में OBC, EWS को रिजर्वेशन के फैसले को लेकर BSP चीफ मायावती ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

CAA विरोध: जामिया छात्रों के बीच पहुंचे दिल्ली के कई बड़ी मस्जिदों के इमाम, कही ये बात Also Read - दिल्‍ली में सियासी मुलाकातें: शरद पवार मिले लालू यादव से, ममता बनर्जी मिलीं अरविंंद केजरीवाल से

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बजर्नी ने बृहस्पतिवार को यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल कर्नाटक में पुलिस की कथित गोलीबारी में मारे जाने वाले लोगों के परिवारों से मिलने के लिए जाएगा और परिवारों को अनुग्रह राशि दी जाएगी. बेंगलुरु से मिली खबर के मुताबिक, मंगलुरु में मारे गए दो लोगों के परिवारों को अनुग्रह राशि देने की घोषणा के लिए ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए कर्नाटक में सत्ताधारी भाजपा ने उनके इस कदम को एक खास समुदाय को लुभाने और ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया. Also Read - Kerala Corona Latest Updates: केरल में क्यों बढ़े कोरोना के मामले? BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने बताई 'असली' वजह

CAA Protests: जुमे की नमाज को लेकर एक्शन मोड में यूपी पुलिस, कई जिलों में इंटरनेट बंद

कर्नाटक भाजपा महासचिव शोभा करंदलाजे ने सवाल किया कि क्या उन्होंने इसलिए अनुग्रह राशि देने की घोषणा की क्योंकि मारे गए दोनों लोग मुस्लिम समुदाय के थे. उन्होंने यह भी पूछा कि क्या ममता बनर्जी ने अपने राज्य में राजनीतिक हिंसा के शिकार ‘सैकड़ों’ लोगों के परिवारों के लिए ऐसा कदम उठाया. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए करंदलाजे ने कहा कि पश्चिम बंगाल में विभिन्न प्रदर्शनों में सैकड़ों राजनीतिक कार्यकर्ता मारे गए. क्या बनर्जी ने उनके परिवारों को मुआवजा दिया?