नई दिल्लीः नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली में विरोध प्रदर्शन काफी उग्र हो गया है. दो दिन पहले तक यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की दीवारों तक सीमित यह विरोध प्रदर्शन ने देखते देखते उग्र रूप धारण कर लिया है. दिल्ली के कई इलाकों में धारा 144 लागू कर दी गई है. सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मोबाइल कंपनियों ने कुछ इलाकों में इंटरनेट पर पाबंदी लगा दी है.

इसके साथ ही कुछ इलाकों में इंटरनेट और वाइस कॉल पर रोक लगा दी गई है. सूचना के अनुसार यह पाबंदी गुरुवार की सुबह नौ बजे से लेकर रात 1 बजे तक के लिए लगाई गई है. भारती एयरटेल ने कहा है कि कुछ इलाकों में सरकार के निर्देशों के मुताबिक कुछ इलाकों में इंटरनेट, एसएमएस, बॉयस कॉल पर पाबंदी लगा दी गई है.

एक ट्विटर यूजर को जवाब देते हुए वोडोफोन ने ट्वीट कर बताया है कि जामिया, शाहीन बाग, बवाना, सीलमपुर, जाफरबाद, मंडी हाउस, पुरानी दिल्ली के कुछ हिस्सों में सेवाओं को बंद कर दिया गया है जिसकी वजह से आप 1 बजे हमारे सेवाओं का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे.

आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन के विरोध में व्यापक विरोध प्रदर्शन हो रहा है. छात्रों के साथ साथ कई राजनीतिक पार्टियां भी इसमें शामिल हो गई है. पुलिस ने कई छात्रों सहित कई नेताओं को हिरासत में लिया है. स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव, और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद को हिरासत में लिया है.