मुंबई: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कैब में सफर के दौरान यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया है. उबर कैब में शुक्रवार (4 मई) सुबह सफर कर रही एक महिला ने ड्राइवर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. महिला ने बताया कि शुक्रवार सुबह उसने MH 03 CH 1124 नंबर की उबर कैब बुक की. जब पौने ग्यारह बजे वह मुंबई के अंधेरी ईस्ट इलाके में पहुंची, ड्राइवर ने पेंट की चेन खोलकर अश्लील हरकत शुरू कर दी.

रूपा (काल्पनिक नाम) ने बताया कि जब कैब ट्रैफिक सिग्नल पर खड़ी थी, उस दौरान ड्राइवर ने सार्वजनिक तौर पर हस्तमैथुन किया. रूपा ने कहा, ‘मैं तुरंत कार से बाहर आ गई और उसे यात्रा खत्म करने को कहा. वह गाली देता हुआ बाहर आया, फिर उसने पूछा, ‘क्या हुआ’, मैंने कहा तुम्हे नहीं पता कि क्या हुआ. तुम चाहते हो कि मैं शोर मचाऊं और सब लोग जानें कि तुमने क्या किया है.’

इसके बाद ड्राइवर गुस्से में महिला की तरफ बढ़ा. वह उसे धकियाने लगा और किराया मांगने लगा. महिला ने अपनी शिकायत में कहा कि उस वक्त सड़क पर ट्रैफिक पुलिस का कोई भी जवान तैनात नहीं था. महिला अकेले ही ड्राइवर से बहस कर रही थी. पास खड़े लोग तमाशा देख रहे थे.

इसके बाद महिला ने ड्राइवर से कहा कि वह उससे दूर रहे और कैब का किराया बताए. इस दौरान वहां कई कैब आकर रुक गईं. जब ड्राइवर को लगा कि कई लोग यह तमाशा देख रहे हैं तो फिर उसने कोई हरकत न करते हुए महिला को किराया बताया. रूपा ने बताया, ‘मैंने उसे किराए से ज्यादा पैसे दिए और बची हुई रकम लेने के लिए वहां नहीं रुकी, क्योंकि मुझे लगा कि ये बहुत ही खतरनाक आदमी है. मैं इस गंभीर घटना की शिकायत उबर में करूंगी और इसके खिलाफ एफआईआर भी कराऊंगी.’

रूपा ने उबर को इस बारे में ईमेल किया, लेकिन वो डिलिवर नहीं हो सका. उन्होंने कहा, ‘मैंने उबर से निवेदन किया कि कृपया उस ड्राइवर का लाइसेंस रद्द करें और उसे सेवा से तत्काल बाहर कर दें. मैंने अपने शहर में खुद को असुरक्षित महसूस किया, व्यस्त ट्रैफिक वाले इलाके में जहां सभी लोग घटना को होते हुए देख रहे थे, लेकिन कोई भी मदद के लिए आगे नहीं आया. जिस दौरान मैं उससे अकेले लड़ रही थी, मैंने महसूस किया कि उससे मेरी जान को खतरा हो सकता है, जबकि वहां कई महिलाएं भी थीं. मुझे खुशी है कि मैं घबराई नहीं… कार से बाहर आई और अपनी हिफाजत के लिए हंगामा किया.’

महिला ने बताया, ‘मेरे पति उस वक्त फोन पर थे और वे हंगामा सुनकर डर गए. उन्होंने मुझसे चिल्लाने और मदद के लिए किसी को बुलाने या फिर खुद ही उससे (ड्राइवर से) निपटने को कहा. यहां तक कि मैंने उसे चेतावनी भी दी और उससे कहा कि अगर उसने एक कदम भी मेरी तरफ बढ़ाया तो मैं उसे यह दिखाने में थोड़ा भी संकोच नहीं करूंगी कि मैं क्या हूं. वह पीछे हट गया. उसके आक्रामक रवैये को देखते हुए मैंने उससे झगड़ने की बजाय बिल के लिए पूछना ज्यादा उचित समझा और फिर पेमेंट कर दिया. और आगे के सफर के लिए मैंने ऑटो ले लिया. मेरे साथ आज कुछ भी हो सकता था, अच्छा हुआ कि कार के रुकते ही मैंने दिमाग से काम लिया और कैब से बाहर आ गई. यह एक बेहद ही गंभीर घटना है और इस तरह की कई घटनाएं सामने आती रही हैं. उबर को अपनी कंपनी बंद कर देनी चाहिए या फिर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए.’

महिला ने मुंबई पुलिस से भी इस घटना की शिकायत की है. साथ ही एफआईआर दर्ज करवाने की बात भी कही है. घटना पर एक बयान जारी कर उबर ने कहा, ‘जो वाकया सामने आया है, उस तरह की चीजों के लिए हमारे एप में कोई जगह नहीं है. हमारी कम्युनिटी गाइडलाइन्स इस तरह के दुर्व्यवहार को पूरी तरह खारिज करती हैं. मामले की जानकारी मिलते ही पार्टनर एक्सेस खत्म कर दिया गया है.’