नई दिल्ली. सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे 7 दिन से अनशन पर हैं. उनके सहयोगी ने दावा किया है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम चलाने वाले बुजुर्ग कार्यकर्ता का वजन पांच किलोग्राम से ज्यादा घट गया है. इस बीच उनके अनशन को लेकर कैबिनेट में रात भर बैठक चली. बताया जा रहा है कि जन आंदोलन की मांगों पर अन्ना और सरकार के बीच 95 फीसदी तक समन्वय हो गया है.Also Read - Cabinet Meeting Cancelled Today: कैबिनेट की आज होने वाली बैठक हो गई कैंसिल, सरकारी कर्मियों को हुई मायूसी, जानिए वजह

रिपोर्ट के मुताबिक, नया ड्राफ्ट लेकर पीएमओ के नुमाइंदे गुरुवार को अन्ना से मुलाकात करेंगे. इस दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी अन्ना से मुलाकात कर सकते हैं. बताया जा रहा है कि इसके बाद अन्ना का आंदोलन टूट सकता है. Also Read - Cabinet Meeting Today: पीएम मोदी आज अपने मंत्रियों के साथ करेंगे बैठक, कई अहम मुद्दों पर होगी बात

वहीं, अन्ना हजारे के सहयोगी दत्ता अवारी ने कहा कि अनशन की वजह से उनका ब्लड प्रेशर भी गिरा है. इससे पहले बुधवार को बीजेपी के पूर्व सांसद और पार्टी छोड़कर कांग्रेस में जाने वाले नाना पतोले ने भी रामलीला मैदान में हजारे से मुलाकात की. वहीं, केंद्र ने अपने दूत महाराष्ट्र के मंत्री गिरिश महाजन को हजारे के पास भेजा था. उन्होंने सामाजिक कार्यकर्ता को आश्वस्त किया था कि उनकी अधिकतर मांगों पर ध्यान दिया जाएगा. Also Read - Spectrum Auction: कैबिनेट की बैठक में हुआ फैसला, मार्च 2021 में की जाएगी स्पेक्ट्रम की नीलामी

बता दें कि हजारे 23 मार्च से अनशन पर हैं. वह केंद्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्त को नियुक्त करने तथा किसानों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य देने की मांगों को लेकर अनशन कर रहे हैं.