नई दिल्ली/ओटावा। कनाडा ने एक पूर्व सीआरपीएफ अधिकारी को देश में घुसने से मना कर दिया. प्रवेश की अनुमति ना देने के पीछे कनाडा का तर्क था कि वो जिस फोर्स में काम करते हैं उसमें बड़े पैमाने पर मानव अधिकारों का हनन किया है. हिंदुस्तान टाइम्स ने अपनी एक रिपोर्ट में लिखा कि कनाडा के अधिकारियों ने पूर्व सीआरपीएफ अधिकारी को प्रवेश नहीं दिया क्योंकि जिस फोर्स के लिए वह काम करते हैं वह मानव अधिकार के हनन, नरसंहार और आतंकी गतिविधियों में लिप्त रही है.

पूर्व सीआरपीएफ अधिकारी तेजिंदर सिंह ढिल्लन कनाडा के वेनकूवर एयरपोर्ट पहुंचे. वहां उनको कनाडा के इमीग्रेशन एंड रिफ्यूजी प्रोटेक्शन के अधिकारियों ने उन्हें रोक लिया. ढिल्लन के साथ पिछले 30 सालों में ऐसा पहली बार हुआ. इसबार उन्हें किसी भी हालत में प्रवेश नहीं दिया गया तो उन्हें लुधियाना वापस आना पड़ा. ढिल्लन सीआरपीएफ से 2010 में रिटायर हुए थे.

ढिल्लन के मुताबिक वह सीआरपीएफ के जवान रहते हुए भी कनाडा गए थे. इस मामले पर विदेश मंत्रालय ने भी बयान दिया. विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया कि ऐसी घटना को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कनाडा से इस बारे में बात भी की है.