नई दिल्ली: केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ किसान सड़क पर उतर चुके हैं. ऐसे में किसानों के आंदोलन पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और हरियाणा के मुख्यमंत्री में इन दिनों जुबानी जंग चल रही है. अमरिंदर सिंह ने शनिवार को एक बार फिर खट्टर पर निशाना साधते हुए कहा कि मेरे किसानों के साथ निर्दयता दिखाई जा रही है. मनोहर लाल खट्टर माफी मांगे. मैं उनसे तब तक बात नहीं करूंगा जब तक वे माफी नहीं मांगेंगे. Also Read - Farmers Rally in Mumbai: Azad Maidan में हजारों किसानों का जमावड़ा, कुछ देर में शरद पवार करेंगे संबोधित

अमरिंदर सिंह ने खट्टर पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि मनोहर लाल खट्टर ने झूठ बोला कि उन्होंने मुझे फोन करने की कोशिश की और मैंने जवाब नहीं दिया. लेकिन अब मेरे किसानों के साथ जो किया गया है, इसके बाद अगर वे 10 बार भी फोन करेंगे तो भी मैं बात नहीं करूंगा. Also Read - Tractor rally Traffic Alert: इन रास्तों से होकर गुजरेगी ट्रैक्टर रैली, ड्रोन से रखी जाएगी निगरानी

किसानों को दिल्ली जाने से रोके जाने को लेकर कैप्टन ने मनोहर लाल खट्टर पर निशाना साधते हुए कहा कि दिल्ली सरकार को उनके आने से दिक्कत नहीं है, केंद्र सरकार बातचीत करने को तैयार है. ऐसे में बीच में आने वाले मनोहर लाल खट्टर होते कौन हैं. मेरे किसानों पर वॉटर कैनन, लाठी चार्ज का इस्तेमाल किया गया. इसमें कई किसान घायल हुए हैं. ऐसे में अब खट्टर से बात करने का कोई मतलब नहीं बनता है. Also Read - दिल्ली पुलिस ने आधिकारिक रूप से दी 'किसान ट्रैक्टर परेड' की इजाजत, तीन जगहों से निकलेगी रैली