नई दिल्ली: हमारे समाज में हीरोज की कमी नहीं है. बीते दिनों एक ऐसी खबर सामने आई है जिससे भारतीय सेना के लिए इज्जत दोगुनी हो गई है. भारतीय सेना की दो महिला कैप्टन जब चलती ट्रेन में एक गर्भवती महिला के बचाव के लिए पहुंची तो ट्रेन में सवार सभी यात्रियों ने इनकी खूब प्रशंसा की. यही नहीं इस खबर की पुष्टि के बाद इन दोनों महिला कैप्टन्स को ‘हीरो’ जैसे सम्मान से भी नवाजा गया.

बीते शनिवार को एक गर्भवती महिला हावड़ा एक्सप्रेस में सवार थी और जैसे ही उसकी खबर मिली वैसे ही कैप्टन ललिता और कैप्टन अमनदीप भारतीय सेना के 172 मिलिट्री अस्पताल के डॉक्टरों के साथ वहां पहुंच गई. मौके पर पहुंचने के बाद अधिकारियों ने महिला यात्री की समयपूर्व डिलीवरी को सफलतापूर्वक अंजाम दिया. डिलीवरी के बाद शिशु और माँ दोनों स्वस्थ थे.

इस सफल अंजाम के बाद भारतीय सेना ने नवजात शिशु के साथ कैप्टन ललिता और कैप्टन अमनदीप की एक तस्वीर को ट्विटर पर साझा किया. इसके बाद से यह तस्वीर इंटरनेट पर फैलने लगी और बहुत कम समय में वायरल हो गई. इस तस्वीर को अब तक 21 हजार से ज्यादा लाइक्स और 4000 से ज्यादा रीट्वीट मिल चुके हैं. इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए भारतीय सेना ने लिखा, “कैप्टन ललिता और कैप्टन अमनदीप, इंडियन आर्मी 172 मिलिट्री हॉस्पिटल ने हावड़ा एक्सप्रेस में यात्रा के दौरान एक गर्भवती महिला की सफलतापूर्वक डिलीवरी को अंजाम दिया. मां और शिशु दोनों खुश और स्वस्थ है.”

अंधविश्वास को तोड़ती ये कहानी, जिस घर में 11 सदस्यों ने की थी आत्महत्या उसी घर में शिफ्ट होने का किया फैसला

भारतीय सेना के कर्तव्य और जिम्मेदारी की भावना की प्रशंसा करते हुए लोगों ने इस तस्वीर पर खूब प्यार बरसाया. एक यूजर ने तस्वीर पर कमेंट करते हुए लिखा कि मां के पास अब बच्चे के नाम के लिए दो विकल्प हैं. यहां देखिए कैसे नेटीजेंस ने इस तस्वीर पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी:

भारतीय सेना ने हमेशा ही देश का नाम रौशन किया है और इस बार भी उन्होंने इस काम से देश का सीना चौड़ा कर दिया है.