नई दिल्ली: एक सितंबर यानी आज से कई नियमों में अहम बदलाव किए गए हैं. इसका लोगों की जिंदगी पर सीधा असर पड़ेगा. इन बदलावों में रेल यात्रा, कार और आपके स्वास्थ्य से जुड़े फैसले शामिल हैं. जानते हैं क्या हैं ये चार बदलाव
कार और बाइक का बीमा
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार एक सितंबर से नई कारों और बाइक्स के लिए थर्ड-पार्टी इंश्योरेंस अनिवार्य हो गया है. नए नियमों के तहत कार मालिकों को तीन साल वहीं बाइक वालों को 5 साल तक के लिए बीमा खरीदना होगा. आमतौर पर लोग एक साल तक के लिए गाड़ियों का इंश्योरेंस कराते हैं. 1500 सीसी से ज्यादा की नर्इ कार के लिए शुरुआती इंश्योरेंस कवर कम से कम 24,305 रुपये पड़ेगा. यह फिलहाल 7,890 रुपये में मिलता है. वहीं, 350 सीसी इंजन से ज्यादा की बाइक के लिए खरीदार को 13,024 रुपये देने होंगे. आपको फिलहाल 2,323 रुपये देने पड़ते हैं. इंश्योरेंस प्रीमियम अलग-अलग मॉडल में अलग-अलग हो सकते हैं.

रेल टिकट संग फ्री बीमा नहीं
ट्रेन के ई-टिकट खरीदने पर आज से बीमा यात्रा का प्रिमियम खुद देना होगा. आईआरसीटीसी ने डिजिटल लेन-देन बढ़ाने के लिए रेलयात्रियों के लिए दिसंबर 2017 में मुफ्त यात्रा बीमा शुरू की थी. रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारतीय रेल खान-पान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने एक सितंबर से मुफ्त यात्रा बीमा की सुविधा बंद करने का फैसला किया है और बीमा का प्रावधान वैकल्पिक होगा.

इस बीमा के तहत यात्रा के दौरान दुर्घटना में यात्री की मौत होने की स्थिति में अधिकतम 10 लाख रुपए तक की बीमा का प्रावधान किया गया था. वहीं, यात्रा के दौरान दुर्घटना में अपाहिज होने पर 7.5 लाख रुपए और घायल होने पर दो लाख रुपए और शव के परिवहन के लिए 10,000 रुपए का प्रावधान किया गया था.

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) का उद्घाटन करेंगे. इसी के साथ आईआईपीबी की 650 शाखाएं और 3,250 सुविधा केंद्र काम करना शुरू कर देंगे.इस भुगतान बैंक में भारत सरकार की 100% हिस्सेदारी है. देश के 1.55 लाख डाकघरों को 31 दिसंबर 2018 तक आईपीपीबी प्रणाली से जोड़ लिया जाएगा.आईआईपीबी अपने खाताधारकों को भुगतान बैंक के साथ-साथ चालू खाता, धन हस्तांतरण, प्रत्यक्ष धन अंतरण, बिलों के भुगतान इत्यादि की सेवाएं भी उपलब्ध कराएगा.

देश भर में इसके एटीएम और माइक्रो एटीएम भी काम करेंगे. साथ ही मोबाइल बैंकिंग एप, एसएमएस और आईवीआर जैसी सुविधाओं के माध्यम से भी बैंकिंग सेवाएं लोगों तक पहुंचाएगा. इस हफ्ते की शुरूआत में मंत्रिमंडल ने आईआईपीबी के व्यय को बढ़ाकर 1,435 करोड़ रुपये करने की मंजूरी दे दी थी. ताकि आईआईपीबी इस क्षेत्र में पहले से मौजूद पेटीएम पेमेंट्स बैंक, एयरटेल पेमेंट्स बैंक इत्यादि से प्रतिस्पर्धा कर सके.

तंबाकू उत्पादों पर टोल-फ्री नंबर अनिवार्य
सभी तंबाकू उत्पादों और सिगरेट पैकेटों पर नैशनल क्विट लाइन टोल फ्री नंबर 1800112356 लिखना अनिवार्य होगा, जो लोग तंबाकू की लत छोड़ना चाहते हैं, वे इस पर मदद मांग सकेंगे.इसके अलावा, तंबाकू उत्पादों और सिगरेट के पैकों पर 85 फीसदी हिस्से में बड़ी चित्रात्मक तस्वीरें होंगी, टेक्स्ट मेसेज होंगे और उन पर चेतावनी भी लिखी होगी.