चंडीगढ़: नवजोत सिंह सिद्धू की पाकिस्तान यात्रा का भूत उनका पीछा छोड़ने का नाम ही नहीं ले रहा. सिद्धू की वहां जाने को लेकर आलोचना हुई, वहां उनके बयानों की आलोचना हुई, इमरान खान की तारीफ की आलोचना हुई, पाक सेना प्रमुख से गले मिलने को लेकर आलोचना हुई, खालिस्तान समर्थक के साथ फोटो सामने आने पर आलोचना हुई और भारत लौटकर आने के बाद अमरिंदर के खिलाफ बयान देने की आलोचना हुई. और तो और, अब एक काला तीतर उनके लिए मुसीबत बन गया है जो एक पत्रकार ने उन्हें पाकिस्तान यात्रा के दौरान गिफ्ट दिया था. सिद्धू ने आते ही यह काला तीतर सीएम अमरिंदर सिंह को भेंट कर दिया था, इसके बावजूद उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है.

दो पशुप्रेमियों ने वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो में शिकायत देकर पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ कथित तौर पर भूसा भरा काला तीतर रखकर वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 का उल्लंघन करने के लिए कार्रवाई की मांग की है. यह पक्षी सिद्धू को एक पाकिस्तानी पत्रकार ने तब भेंट किया था जब वह करतापुर गलियारे की नींव रखने के समारोह में भाग लेने पाकिस्तान गए थे.

दिल्ली में मौसम का बदला मिजाज: ठिठुरन बढ़ी, शनिवार सुबह कुहासे का अंदेशा, हवा की गुणवत्ता भी हुई ‘खराब’

सिद्धू ने गत 12 दिसम्बर को भूसा भरा यह काला तीतर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को भेंट कर दिया था. हालांकि पता चला है कि अमरिंदर सिंह ने वन्यजीव विभाग से यह जानकारी मांगी है कि क्या वह इस पक्षी को रख सकते हैं.

आईआईटी मद्रास के मेस में विवाद: शाकाहारी और मांसाहारी छात्रों के लिए अलग-अलग दरवाजों की व्यवस्था

वन्यजीव कार्यकर्ता नरेश कादियान ने शुक्रवार को कहा, ‘‘सिद्धू द्वारा वन्यजीव संरक्षण कानून का उल्लंघन किए जाने के लिए मैंने वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो में शिकायत की है.’’ वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो पर्यावरण मंत्रालय के तहत आने वाला एक सांविधिक निकाय है और यह संगठित वन्यजीव अपराधों पर कार्रवाई करता है. इसी तरह की शिकायज लुधियाना निवासी पशु कार्यकर्ता संदीप जैन ने भी दर्ज कराई जिसमें उन्होंने इस मामले की जांच और सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. जैन ने अपनी शिकायत में कहा है कि वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत काला तीतर एक संरक्षित प्राणी है.