सलेम (तमिलनाडु): तमिलनाडु की सरकार ने तूतीकोरिन जिले में पिता-पुत्र की मौत के मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने का निर्णय किया है. दोनों की मौत कथित तौर पर पुलिस उत्पीड़न के कारण हुई थी. यह बात रविवार को मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने कही. Also Read - तमिलनाडु के नवेली लिग्नाइट कॉर्पोरेशन में हुआ बॉयलर ब्लास्ट, 6 की मौत 17 लोग घायल

मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने कहा कि सरकार के निर्णय से मद्रास उच्च न्यायालय को सूचित कर दिया जाएगा और केंद्रीय एजेंसी को जांच स्थानांतरित करने से पहले उच्च न्यायालय से अनुमति ली जाएगी. Also Read - पिता-पुत्र के पुलिस उत्पीड़न और मौत मामले में नया खुलासा, अस्पताल में ही हो गई थी दोनों की मौत, अब CBI करेगी जांच

पलानीस्वामी ने कहा, ‘‘सरकार ने निर्णय किया है कि सीबीआई मामले की जांच करेगी.’’ पी जयराज और उनके बेटे फेनिक्स को अपनी मोबाइल फोन की दुकान समय सीमा के बाद खोलकर लॉकडाउन के नियमों का ‘उल्लंघन’ करने के आरोप में 23 जून को गिरफ्तार किया गया था. उनके रिश्तेदारों ने आरोप लगाए कि पुलिसकर्मियों ने सातनकुलम थाने में उनकी बुरी तरह की पिटाई की. Also Read - तमिलनाडु में 31 जुलाई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, जारी रहेंगी पाबंदियां; चेन्नई और मदुरै को कोई छूट नहीं

इस घटना की राष्ट्रीय स्तर पर तीखी प्रतिक्रिया हुई जिसके बाद दो उपनिरीक्षकों सहित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया.