नई दिल्ली: स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि पिछले दिनों दिल्ली स्थित निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन में हिस्सा लेने वालों में से अब तक कुल 647 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है. ये लोग 14 राज्यों के हैं. Also Read - मिसाल: जम्मू-कश्मीर में मुस्लिम पड़ोसियों ने की कश्मीरी पंडित महिला की अंत्येष्टि, देख लोग हुए भावुक

स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पिछले दो दिनों में तबलीगी जमात के 647 लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है. ये लोग असम, अंडमान निकोबार, दिल्ली, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश से हैं. Also Read - मौसम अलर्ट: दिल्‍ली-हरियाणा में आज हो सकती है बारिश, पूर्वोत्‍तर में भारी वर्षा

संयुक्त सचिव ने बताया कि देश में कोरोना के संक्रमण के अब तक 2301 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 56 मरीजों की मौत हुई और 156 मरीजों को इलाज के बाद स्वस्थ होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटों में 12 मरीजों की मौत हुई है. Also Read - Covid-19 Delhi Update: दिल्ली की स्थिति चिंताजनक, टेस्ट कराने वाला हर चौथा व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव

स्वास्थ्य मंत्रालय संयुक्‍त सचिव ने कोरोना के संक्रमण की श्रंखला को तोड़ने के लिए लागू देशव्यापी बंद (लोकडाउन) को कारगर उपाय बताते हुए कहा कि संक्रमण के मामलों में जो बढ़ोतरी पिछले कुछ दिनों में हुई है, उसका मुख्य कारण एक खास घटना रही.

हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री संयुक्‍त सचिव अग्रवाल ने कहा कि अगर इस घटना को छोड़ दें तो लॉकडाउन और इस दौरान सामाजिक मेलजोल से दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) के उपायों के कारण नए मामलों की गति मे इजाफा नहीं हो रहा था.

अग्रवाल ने देशवासियों से अपील की, हम सभी को यह समझना होगा कि हम एक संक्रामक बीमारी से जूझ रहे हैं, ऐसे में इससे निपटने के उपायों का पालन में करने में मामूली सी चूक हमारे सारे प्रयासों को व्यर्थ साबित कर देती है.