हैदराबाद: देश के दो दक्षिणी राज्यों, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश, के एटीएम नकदी की कमी से जूझ रहे हैं. हालत ऐसी हो गई है कि लोगों की कैश की जरूरतों को पूरा करने के लिए महाराष्ट्र और केरल जैसे पड़ोसी राज्यों से इसकी खेप मंगाई जा रही है. Also Read - SBI Clerk Mains Admit Card 2020 Released: एसबीआई ने जारी किया SBI Clerk Mains 2020 का एडमिट कार्ड, इस Direct Link से करें डाउनलोड

Also Read - SBI Clerk Prelims Result 2020 Declared: एसबीआई ने जारी किया क्लर्क प्रीलिम्स का रिजल्ट, ये है चेक करने का Direct Link

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के अनुसार दोनों दक्षिणी राज्यों में पिछले दो महीने से यह समस्या गंभीर बनी हुई है. मजबूरी में बैंक इसके लिए पड़ोसी राजयों पर निर्भर हैं. तेलंगाना के लिए महाराष्ट्र और केरल तथा आंध्र प्रदेश के लिए ओडिशा और तमिलनाडु से नकदी की आपूर्ति की जा रही है. Also Read - SBI ग्राहकों के लिए बड़ी खबर: ऑनलाइन बैंकिग सेवाएं हो गईं हैं बहाल, बेफिक्र कीजिए काम

इसके अलावा 2000 के नोटों की भी भारी किल्लत है. इसका कारण यह है कि सितंबर, 2017 से ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया इसकी आपूर्ति नहीं कर रहा. ग्राहक भी इन नोटों को बैंकों में वापस जमा नहीं कर रहे.

यह भी पढ़ें: 44 साल की मां 16 साल के बेटे के साथ दे रही हैं 10वीं की परीक्षा

हैदराबाद सर्किल में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चीफ जनरल मैनेजर के मुताबिक जनवरी और फरवरी महीने में एटीएम से नकदी निकासी ज्यादा हुई, लेकिन इस अनुपात में नकदी की आपूर्ति नहीं हुई. आरबीआई की अनुमति के बाद इस कमी को पूरा करने के लिए महाराष्ट्र और तिरुअनंतपुरम से नकदी मंगाई गई. हालांकि, मार्च महीने में अब तक ऐसा नहीं किया गया है. उन्होंने यह भी बताया कि बैंकों की कोशिश होती है कि 94 फीसदी मौकों पर एटीएम में कैश उपलब्ध रहे. लेकिन जनवरी महीने में यह अनुपात कम होकर 70 फीसदी रह गया. फिलहाल यह अनुपात 60 फीसदी के करीब है.