नई दिल्‍ली: कोराना वायरस संक्रमण की महामारी के चलते लागू लॉकडॉउन 4.0 में रेलवे बोर्ड ने यात्र‍ियों की सुविधाओं के मद्देनजर एक नया आदेश जारी किया है, जिससे ट्रेनों में सफर करने वाले यात्र‍ियों को सुविधा हो सकेगी. Also Read - Railways News: श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 9 यात्रियों की मौत के बाद रेलवे ने कहा- प्लीज इस तरह के पैसेंजर्स न करें यात्रा

रेलवे बोर्ड ने आदेश में कहा, स्टेशनों पर खानपान, बिक्री इकाइयों को खोले जाने की अनुमति दी जाती, फूड प्लाजा, जलपान वस्तुओं को केवल लेकर जाने (टेकअवे) की अनुमति होगी. लेकिन स्‍टेशनों के रेस्‍त्रा में बैठकर कोई खाना नहीं खा सकेगा. रेलवे के इस आदेश के तहत किताबों के स्‍टाल्‍स भी खुलेंगे. Also Read - अपनी मृत मां को उठाने की कोशिश में बच्चा, घटना को कोर्ट ने लिया संज्ञान, बिहार सरकार से पूछा- ये कैसे हुआ

बता दें कि रेलवे ने बीते मंगलवर को आगामी एक जून से लोगों खासतौर पर देश के छोटे कस्बों और शहरों में रहने वालों को बड़ी राहत देते हुए रोजाना 200 विशेष रेलगाड़ियां चलाने का फैसला किया था, जबकि इससे पहले रेलवे ने 30 जून तक के लिए सभी नियमित यात्री ट्रेनों को रद्द कर दिया था. Also Read - रेलवे बोर्ड ने कहा- प्लेटफॉर्म पर दुकानें खोली जाएं, वेंडर्स बोले- अभी कोई औचित्य नहीं, दबाव न बनाएं

– रेलवे की इन ट्रेनों में नॉन एसी सेकंड क्‍लास के डिब्बे होंगे
– ये ट्रेने रोजाना चलेंगी
– ये रेलगाड़ियां प्रवासी श्रमिकों के लिए चलाई जा रही श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों और राजधानी ट्रेन के रूट पर दिल्ली से 15 शहरों के लिए चलाई जा रही विशेष रेलगाड़ियों के अलावा होंगी
– इन रेलगाड़ियों में सफर करने के लिए सभी श्रेणी के यात्रियों को ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग कराने की अनुमति होगी
– रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया था, ”भारतीय रेलवे एक जून से समयसारिणी के अनुरूप रोजाना 200 गैर वातानुकूलित रेलगाड़ियों का परिचालन करेगा, जिनमें सफर करने के लिए टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग जल्द शुरू होगी.”

– रेलवे को अभी यह तय करना है कि ये रेलागाड़ियां किस रूट पर चलाई जाएंगी, लेकिन अधिकारियों ने बताया कि यह छोटे कस्बों और शहरों के लिए हो सकती हैं.
– रेलवे ने कहा था कि इन 200 रेलगाड़ियों को चलाने से उन प्रवासियों को भी मदद मिलेगी जो किसी कारण श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों की सुविधा नहीं ले पा रहे हैं.