नई दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो ने पश्चिम बंगाल के वरिष्ठ पत्रकार सुमन चट्टोपाध्याय को चिटफंड घोटाला करने वाले आई-कोर समूह से धन लेने के मामले में गिरफ्तार कर लिया है. सीबीआई के अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि दिशा प्रोडक्शन एडं मीडिया प्राइवेट लिमिटेड में निदेशक चट्टोपाध्याय ने अपनी कंपनी के खाते और अपने निजी खातों में चिटफंड घोटाले से धन हासिल किया था.

जांच एजेंसी का आरोप है कि आई-कोर ग्रुप ने निवेश पर उच्च ब्याज दर की बात कह कर लोगों से तीन हजार करोड़ रुपए से अधिक का कोष एकत्र कर लिया और फिर इसके एक हिस्से को चट्टोपाध्याय की कंपनी के खाते में जमा कर दिया. अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में पूछताछ के लिए चट्टोपाध्याय को ब्यूरो के कोलकाता कार्यालय में बुलाया गया था, जहां उन्हें हिरासत में ले लिया गया.

चटर्जी को भुवनेश्वर की सीबीआई की विशेष अदालत में शुक्रवार को पेश किया जाएगा. एजेंसी ने आई-कोर समूह के मामले में साल 2014 में जांच शुरू की थी. इसमें आपराधिक षडयंत्र और धोखाधड़ी से संबंधित आईपीसी की कई धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

सुप्रीम कोर्ट के 2014 में दिए आदेश के बाद यह मामला दर्ज हुआ था. तब शीर्ष अदालत ने जांच एजेंसी को निर्देश दिया कि वह चिटफंड कंपनियों की जांच से जुड़े सभी मामलों को राज्य पुलिस से लेकर खुद जांच करे. इसके निदेशक अनुकूल मैती और उनकी पत्नी कणिका को पिछले साल ही एजेंसी ने गिरफ्तार कर लिया था.