नई दिल्ली. पीएनबी घोटाले के बाद बैंकों के घोटाले के मामले एक के बाद एक सामने आ रहे हैं. इसी तरह के एक मामले में सीबीआई ने कोलकाता स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की एक शाखा को 15 करोड़ रुपए का चूना लगाने के आरोप में एसबीआई के दो पूर्व प्रबंधकों, कैनरा बैंक के एक पूर्व प्रबंधक और चार अन्य को गिरफ्तार किया है. केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारियों सोमवार को ये जानकारी दी. उन्होंने कहा कि आरोपियों को कोलकाता के बिचार भवन में सीबीआई के विशेष जज के समक्ष पेश किया गया जिन्होंने उन्हें तीन दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया. Also Read - श्वेता सिंह कीर्ति ने दिखाया भगवान शंकर का रौद्र रूप, न्याय तो अब मिलकर रहेगा?

सीबीआई ने बताया कि एसबीआई की बराकर शाखा के तत्कालीन प्रबंधकों आशीष कुमार भट्टाचार्य और देबदुलाल सरकार (रिटायर्ड), कैनरा बैंक के पूर्व प्रबंधक ईश्वर होन्नुडिके (रिटायर्ड) और गणपत लाल पवन कुमार ट्रेडर्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों- विजय कुमार अग्रवाल, राजेश कुमार जैन, अजय अग्रवाल और पवन कुमार अग्रवाल- को विशेष जज के समक्ष पेश करने के बाद कोर्ट से सीबीआई ने हिरासत में लिया . Also Read - पिता-बेटे को साथ देखकर इमोशनल हुए फैंस, बोले- याद आते हो सुशांत

फर्जी साख- पत्रों के जरिए किया फर्जीवाड़ा
सीबीआई प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने बताया कि जांच एजेंसी ने इस आरोप में केस दर्ज किया कि 2013-14 के दौरान कोलकाता स्थित एक निजी कंपनी के निदेशकों ने एसबीआई और कैनरा बैंक के तीन अधिकारियों के साथ मिलकर कोलकाता स्थित एसबीआई की औद्योगिक शाखा को करीब 15 करोड़ रुपए का चूना लगाने की आपराधिक साजिश रची. उन्होंने ऐसा करने के लिए कथित तौर पर कैनरा बैंक, देना बैंक और एसबीबीजे की ओर से जारी फर्जी साख- पत्रों के जरिए तीन बिलों में फर्जीवाड़ा कर इस कारनामे को अंजाम दिया.  (इनपुट – एजेंसी) Also Read - सुशांत केस में एक्टर के पिता और बहन के बयान दर्ज करेगी CBI, परत दर परत खुलेंगे सारे राज़