नई दिल्ली: सीबीआई अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नबाम तुकी के खिलाफ भ्रष्‍टाचार का मामला दर्ज किया है. अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि 2003 में एक सरकारी परियोजना का ठेका अपने भाई को देने में भ्रष्टाचार पर अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नबाम तुकी के खिलाफ मामला दर्ज किया.

केंद्रीय एजेंसी ने आरोप लगाया कि जब तुकी राज्य में उपभोक्ता मामलों तथा नागरिक आपूर्ति के मंत्री थे, तो उन्होंने अपने भाई नबाम तागम के साथ सांठगांठ करके राज्य में निरजुली में 61.43 लाख और नहारलगुन में 2.60 करोड़ रुपए में दो पार्किंग स्थल विकसित करने के ठेकों के लिए दी गई रिश्वत का गबन किया. तुकी साल 2011 से 2016 के दौरान राज्य के मुख्यमंत्री रहे थे.

एजेंसी ने कहा कि उनके भाई नबाम तागम, तत्कालीन नागरिक आपूर्ति निदेशक एन एन ओसिक तथा यूनाइटेड कॉमर्शियल बैंक के तत्कालीन मुख्य प्रबंधक सोहराब अली हजारिका के खिलाफ भी मामला दर्ज हुआ है.

एजेंसी ने आरोप लगाया कि ओसिक ने 30 लाख रुपए की रिश्वत दी, जिसे यूनाइटेड कॉमर्शियल बैंक की इटानगर शाखा स्थित उनके खाते में जमा कराया गया.

एजेंसी ने आरोप लगाया कि तुकी के नाम पर चेक जारी हुआ, जिसे बाद में बदलकर स्वयं कर दिया गया. उन्होंने कहा कि शाखा प्रबंधक हजारिका ने तुकी के खाते में धन जमा कराने में मदद की और चेक लाभार्थी में बदलाव करने के लिए प्राधिकृति नहीं ली. एजेंसी ने सभी आरोपियों को आपराधिक साजिश, फर्जीवाड़ा तथा भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत नामजद किया.