नई दिल्ली: केंद्रीय विधि मंत्रालय ने केंद्र से कहा है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम पर मुकदमा चलाने के लिए सीबीआई को मंजूरी दी जा सकती है. इससे चिदंबरम के लिए एक नई मुश्किल के तौर पर देखा जा रहा है. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि कानून मंत्रालय की राय मांगी गई थी कि चिदंबरम पर मुकदमा चलाने की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की मांग क्या कानूनी रूप से सही है.

वीडियो: पीएम नरेन्द्र मोदी ने डल झील में बोटिंग का लिया लुत्फ

अधिकारी के मुताबिक, कानून मंत्रालय ने अब केंद्रीय गृह मंत्रालय से कहा है कि सीबीआई के अभियोजन की मांग संबंधी अनुरोध में कानूनी तौर पर कोई विसंगति नहीं है. अधिकारी ने कहा कि मंत्रालय ने सीबीआई द्वारा दिए गए सबूतों के आधार पर ही अपनी राय दी है. सीबीआई को एयरसेल मैक्सिस मामले में चिदंबरम पर अभियोजन चलाने की मंजूरी केंद्र से पहले ही मिल चुकी है.

मोदी सरकार के खिलाफ धरने पर बैठीं ममता बनर्जी, अफसरों को छोड़ने के बाद CBI ऑफिस के बाहर CRPF तैनात

इस जांच एजेंसी ने आईएनएक्स मीडिया को विदेश से 305 करोड़ रुपए का विदेश धन हासिल करने में दी गई एफआईपीबी मंजूरी में अनियमितताओं को लेकर 15 मई, 2017 को प्राथमिकी दर्ज की थी. जब यह मंजूरी दी गई थी, तब चिदंबरम केंद्रीय वित्त मंत्री थे. चिदंमरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को भी इस मामले में 10 करोड़ रुपए लेने को लेकर गिरफ्तार किया गया था.

बीजेपी ने शुरू किया 10 करोड़ परिवारों से सुझाव और उम्मीदों को जानने का अभियान