नई दिल्ली/लखनऊ. अवैध खनन के मामले में शनिवार को सीबीआई की टीमों ने यूपी की राजधानी लखनऊ, कानपुर, हमीरपुर, जालौन सहित 12 जगह पर छापेमारी की है. इसमें लखनऊ स्थित हुसैनगंज में आईएएस अधिकारी बी. चंद्रकला का घर भी शामिल है. बताया जा रहा है कि उनके घर से कई दस्तावेज मिले हैं.Also Read - Submarine लीक केस: CBI ने नेवी कमांडर समेत 5 आरोपियों को अरेस्‍ट किया

Also Read - राजनीतिक बदले के लिए CBI, NCB और आयकर विभाग जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग कर रही है केंद्र सरकार : शरद पवार

दूसरी तरफ सीबीआई के टीम ने बीएसपी नेता सत्यदेव दीक्षित और सपा एमएलसी रमेश मिश्रा के घर भी छापेमारी की है. इनपर अवैध खनन केस में शामिल होने का आरोप लगा है. रिपोर्ट के मुताबिक, टीमों ने घरों की काफी देर तक छापेमारी की है और कई दस्तावेज को जब्त किया है. Also Read - एसबीआई से 862 करोड़ रुपये ठगने के आरोप में CBI ने मुंबई की IT इंफ्रा कंपनी पर मारा छापा

2012 का है मामला
बता दें कि सपा सरकार में आईएएस बी. चंद्रकला की पोस्टिंग हमीरपुर में हुई थी. उन पर जुलाई 2012 के बाद हमीरपुर जिले में 50 मौरंग खनन का पट्टा करने का आरोप लगा था. इस मामले में सीबीआई इलाहाबाद उच्च न्यायालय के निर्देश पर जांच कर रही है. फिलहाल वह डेप्यूटेशन पर हैं.

डिफॉल्टर साबित हुई थीं
बता दें कि सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव रहने वाली बी. चंद्रकला 2008 बैच की उत्तर प्रदेश काडर की आईएएस हैं. वह मूलरूप से तेलंगाना की रहने वाली हैं. साल 2017 में वह अपनी संपत्ति का ब्योरा देने में डिफॉल्टर साबित हुई थीं.