नई दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) जल्द ही यूको बैंक के पूर्व अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अरुण कौल से पूछताछ करेगा. सीबीआई कौल से 737 करोड़ रुपये के कथित बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले में अपनी जारी जांच के सिलसिले में पूछताछ करेगी. गुप्त जांच में शामिल सीबीआई के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “हम दो से तीन दिन में कौल को पूछताछ के लिए समन भजेंगे.”Also Read - पश्चिम बंगाल के स्कूलों में 'ग्रुप डी' कर्मियों की भर्ती की CBI जांच के आदेश पर कलकत्ता हाईकोर्ट की रोक

Also Read - Narendra Giri Death Case: CBI ने आनंद गिरि समेत तीन के खिलाफ आरोप पत्र किया दाखिल

इससे पहले एजेंसी ने कौल, एरा इंजीनियरिंग इंफ्रा इंडिया लिमिटेड (ईईआईएल), इसके सीएमडी हेम सिंह भराना, चार्टड अकाउंटेंट पंकज जैन और वंदना शारदा और ऑल्तिस फिनसर्व प्राइवेट लिमिटेड के पवन बंसल के साथ अन्य लोगों के खिलाफ कथित रूप से 621 करोड़ रुपये ऋण धोखाधड़ी मामले के संबंध में मामला दर्ज किया था. इस ऋण के कारण बैंक को 737 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा था. बैंक की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया, जो अब प्राथमिकी का हिस्सा है. Also Read - CBI, ED निदेशक के कार्यकाल का विस्तार: इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचीं TMC सांसद महुआ मोइत्रा, किया ये ट्वीट

ये भी पढ़ें.‘संविधान बचाओ’ मुहिम की शुरुआत करेंगे राहुल गांधी, 23 अप्रैल को होगा आगाज

मामला दर्ज करने के बाद सीबीआई ने शनिवार को कौल के आवास, सीए के परिसर और दो फर्मो समेत दिल्ली और मुंबई में 10 जगहों पर छापेमारी की थी. सीबीआई अधिकारी ने कहा कि एजेंसी गुप्तचर बरामद दस्तावेजों के माध्यम से जांच कर रहे हैं. उन्होंने कहा, “जब हम बरामद दस्तावेजों पर अपना अध्ययन पूरा कर लेंगे, तब हम कौल को बुलाएंगे.” आरोपी व्यक्ति ने आपराधिक साजिश रची और कथित रूप से यूके बैंक को दो बैंक ऋणों के जरिए 621 करोड़ रुपये की चपत लगाई.

ये भी पढ़ें.स्वाति मालीवाल का अनशन जारी, कहा- दुष्कर्म आरोपियों को मिले मौत की सजा

कौल वर्ष 2010 से 2015 के बीच यूको बैंक के सीएमडी रहे थे. सीबीआई अधिकारी के मुताबिक उन्होंने ऋण हासिल करने में आरोपी कंपनी की कथित रूप से मदद की. (इनपुट-एजेंसी)