नई दिल्ली: सीबीआई ने रेलटेल के निदेशक आशुतोष वसंत और निजी कंपनी यूनाइटेड टेलीकॉम के साथ ही अमेरिकी कंपनी इनफिनेरा के खिलाफ मामला दर्ज किया है. एजेंसी ने बृहस्पतिवार को बताया कि 2012 में अधिकारियों की अमेरिका यात्रा के दौरान उनके कथित आपराधिक कदाचार के लिए यह मामला दर्ज किया गया है.

वसंत पर आरोप है कि उन्होंने 2012 में सैन फ्रांसिस्को होते हुए शिकागो की अपनी आधिकारिक यात्रा के लिए एअर इंडिया में बिजनेस श्रेणी की टिकट बुक की थी. अधिकारियों ने बताया कि सैन फ्रांसिस्को से शिकागो जाते हुए उन्होंने अमेरिका एअरवेज की इकोनॉमी श्रेणी की टिकट का इस्तेमाल किया. उन्होंने बताया कि रेलटेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेज ने वसंत के अनुरोध और इनवॉयस एवं ई-टिकट दिखाने के बाद ट्रैवल एजेंसी को भुगतान किया था.

रेलटेल की स्थापना 2000 में एक मिनीरत्न कंपनी के तौर पर हुई थी जो ट्रेन नियंत्रण परिचालन और भारतीय रेलवे के सुरक्षा तंत्र को आधुनिक बनाने के लिए राष्ट्रव्यापी ब्रॉडबैंड, टेलीकम्युनिकेश एवं मल्टीमीडिया नेटवर्क का संचालन करता है.अधिकारियों ने बताया कि आरोप है कि वसंत ने इकोनॉमी क्लास मे सफर किया लेकिन बिल बिजनेस क्लास का दिया.

सीबीआई ने कहा कि उन्होंने टिकट खरीद में की गई धोखाधड़ी को छिपाने के लिए यात्रा संबंधी दस्तावेज नहीं पेश किया था. एजेंसी ने कहा कि यूनाइटेड टेलीकॉम ने वसंत के होटल बिलों का भुगतान किया लेकिन उन्होंने एक हलफनामा कथित तौर पर बनवाया कि उन्होंने नकद में कंपनी को पैसा वापस चुकाया. सीबीआई ने कहा कि वसंत और अन्य दो अधिकारियों की अनुशंसा पर, रेलटेल ने यूटीएल और इनफिनेरा कंपनी संघ को ‘डेंस वेब डिविजन मल्टीप्लेक्सिंग टेक्नोलॉजी’ का टेंडर के लिए चुना था.