नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे एक पत्र में, सीबीआई के एक पुलिस उपाधीक्षक ने संयुक्त निदेशक-रैंक के एक अधिकारी पर एक फर्जी मुठभेड़ में शामिल होने का आरोप लगाया है. हालांकि एजेंसी ने शुक्रवार को यह कहते हुए इस आरोप से इनकार किया कि जांच में ऐसा कोई सबूत सामने नहीं आया है. Also Read - सुप्रीम कोर्ट में किसानों ने PM मोदी का किया ज़िक्र, चीफ जस्टिस बोले- हम प्रधानमंत्री को नहीं कह सकते क्योंकि...

पत्र में, सीबीआई निदेशक आरके शुक्ला और केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) को भी संबोधित किया गया है. डिप्टी एसपी एनपी मिश्रा ने आरोप लगाया कि संयुक्त निदेशक (प्रशासन) ए.के. भटनागर झारखंड में 14 निर्दोष व्यक्तियों की फर्जी मुठभेड़ में संलिप्त थे. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि अमित कुमार भटनागर संस्था में अपने उच्च पद का इस्तेमाल कर जांच को प्रभावित कर रहे हैं. Also Read - Yuva Sansad महोत्सव में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- वंशवाद देश के लिए खतरा, युवा करें इसका खात्मा

इस बीच, सीबीआई ने शुक्रवार को इन आरोपों से इंकार किया है. बयान में दावा किया गया कि एजेंसी ने पत्र का संज्ञान लिया है. प्रवक्ता ने कहा, इस मामले की जांच चल रही है. झारखंड पुलिस के तत्कालीन महानिरीक्षक ए.के. भटनागर के खिलाफ अब तक की गई जांच के दौरान कोई सबूत सामने नहीं आया है. Also Read - Supreme Court Comment on Kisan Andolan: किसानों को तसल्ली, सरकार को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने कृषि कानूनों पर क्या कहा, जो मची हलचल, पढ़ें 10 बड़ी बातें