आम आदमी पार्टी(आप) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के ऑफिस में सीबीआई ने छापेमारी की है. मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में गुरुवार को सीबीआई ने दिल्ली सचिवालय के नौवे फ्लोर पर छापा मारा. बताया जा रहा है कि सीबीआई का यह छापा सत्येंद्र जैन पर दर्ज हुए ताजा मामले को लेकर है. इसमें मंत्री पर गलत तरीके से लोक निर्माण विभाग (PWD) में 18 विशेषज्ञ की नियुक्त का आरोप है. आरोप है कि स्वास्थ्य मंत्री ने पीडब्ल्यू में विशेषज्ञ होते हुए भी 18 लोगों की निजी तौर पर नियुक्ति की है.

बता दें कि आयकर विभाग ने हवाला कारोबारियों के सत्येंद्र जैन से सीधे संपर्क का भी दावा किया गया था. इसमें कहा गया है कि हवाला कारोबारी फोन पर सीधे जैन से बात करते थे और उनके बीच कोड वर्ड में कुछ सौदे भी हुए. आप नेता हवाला कारोबारियों के जरिए 17 करोड़ रुपए की कथित हेराफेरी के मामले में भी आयकर जांच के घेरे में हैं. सूत्रों के मुताबिक, आयकर विभाग की जांच में जैन मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल पाए गए हैं. इस मामले की जांच अभी जारी है और विभाग इस बाबत उनसे 3 बार पूछताछ कर चुका है.

आपको बता दें कि सीबीआई ने राजेन्द्र कुमार सहित आठ अन्य लोगों और इंडीवर सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ कथित आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी एवं फर्जीवाड़े के मामले में आईपीसी की धारा तथा भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत आरोपपत्र दायर किया था.

सीबीआई ने प्राथमिकी में आरोप लगाया था कि आरोपी व्यक्तियों ने आपराधिक साजिश की और 2007 एवं 2015 के बीच दिए गए ठेकों के कारण दिल्ली सरकार को 12 करोड़ रुपए का घाटा हुआ. प्राथमिकी में यह भी आरोप लगाया कि ठेके प्रदान करने के लिए अधिकारियों ने तीन करोड़ रुपए से अधिक का अनुचित लाभ भी लिया था.