नई दिल्ली. सीबीआई ने बुधवार को कहा कि राकेश अस्थाना के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए गठित एसआईटी तेजी से निष्पक्ष जांच करेगी. अस्थाना से विशेष निदेशक की सारी जिम्मेदारियां वापस ले ली गई हैं. एजेंसी ने कहा कि अस्थाना के खिलाफ रिश्वत के आरोपों की जांच के लिए विशेष जांच दल में अच्छी साख वाले अधिकारियों को शामिल किया गया है. Also Read - प्राइवेट कंपनी को टेंडर देने लिए रेलवे अधिकारी ने ली एक करोड़ की रिश्वत, CBI ने रंगे हाथ पकड़ा, हुआ गिरफ्तार

सीबीआई के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘‘अस्थाना के खिलाफ रिश्वत मामले की हम तेजी से निष्पक्ष जांच कराने का प्रयास कर रहे हैं.’’ प्रवक्ता ने सरकार और केंद्रीय सतर्कता आयोग के बयानों पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया कि सीबीआई के निदेशक पद से हटाए गए आलोक वर्मा भी सीवीसी के साथ सहयोग नहीं कर रहे थे. Also Read - WB Assembly Election: चुनाव से पहले बंगाल में CBI की छापेमारी, अभिषेक बनर्जी के करीबी पर है यह आरोप

वर्मा और अस्थाना के बीच जारी संघर्ष के बीच दोनों की ‘‘सभी शक्तियां वापस ले ली गई हैं’’ जो देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है. Also Read - CBI ने 10 लाख रुपये की रिश्वत मामले में तीन GST अधिकारियों को किया गिरफ्तार