नई दिल्ली: रोज वैली और शारदा पोंजी घोटाला मामले में कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार से पूछताछ करने के लिए सीबीआई उनका पता लगाने की कोशिश कर रही है. इस मामले में उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. रोज वैली घोटाला 15,000 करोड़ रुपये का, जबकि सारदा घोटाला 2500 करोड़ रुपये का है. घोटालों की जांच में पश्चिम बंगाल पुलिस की विशेष जांच टीम का नेतृत्व करने वाले आईपीएस अधिकारी से लापता दस्तावेजों और फाइलों के सबंध में पूछताछ की जानी है लेकिन वह जांच एजेंसी के समक्ष पेश होने से संबद्ध नोटिसों का जवाब नहीं दे रहे हैं. Also Read - Coal Smuggling: छापेमारी करने गई CBI तो हुआ हादसा, ECL अधिकारी की हो गई मौत

सूत्रों ने बताया कि 1989 बैच के पश्चिम बंगाल कैडर के आईपीएस अधिकारी निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक में भी शामिल नहीं हुए. आयोग के अधिकारी चुनाव की तैयारियों के संबंध में उनसे मिलने गए थे. संपर्क किए जाने पर उनके कर्मचारी ने दावा किया कि कुमार शुक्रवार को कार्यालय आए थे लेकिन चले गए थे. उनके कार्यालय के अधिकारी ने बताया, ‘बहुत ही कम संभावना है कि वह अभी कार्यालय आएंगे. आप सोमवार को फोन कर सकते हैं या उनके आवास पर फोन कर लें. Also Read - Roshni Land Scam Latest News: CBI ने J&K के पूर्व मंत्री कांग्रेस नेता के खिलाफ केस दर्ज

उनके कर्मचारी द्वारा दिए गए आवास का फोन नंबर काम नहीं कर रहा है जबकि उनके मोबाइल फोन पर किए गए कॉल का का जवाब नहीं मिल रहा है. अधिकारियों ने बताया कि बंगाली फिल्म निर्माता श्रीकांत मोहिता को हिरासत में लिए जाने के बाद संभवत: वह अपनी गिरफ्तारी को लेकर भयभीत हो गए हैं. Also Read - राजीव गांधी हत्याकांड: सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट को बताया- दोषी की सजा माफी पर राज्यपाल को फैसला करना है